भारत में फंसे विदेशियों को सरकारी वेबसाइट के जरिए मिल रही मदद

नयी दिल्ली, :: भारत में फंसे विदेशी पर्यटकों की मदद के लिए शुरू की गई सरकारी वेबसाइट पर पिछले पांच दिनों में 769 पंजीकरण कराए गए हैं। इस साइट के जरिए आपातकालीन चिकित्सकीय मदद के तहत एक अमेरिकी, एक ऑस्ट्रेलियाई और कोस्टा रिका के दो नागरिकों सहित अन्य को विशेष सुविधा मुहैया कराई गई।


कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन (बंदी) के दौरान देश में फंसे विदेशी पर्यटकों की पहचान, सहायता और उन्हें सुविधाएं मुहैया कराने के मकसद से 31 मार्च को पोर्टल www.strandedinindia.com की शुरुआत की गई थी।


ऐसे पर्यटकों को वेबसाइट पर जाकर अपनी बुनियादी जानकारी देने के साथ ही अपनी समस्या के बारे में बताना होगा ताकि उनकी सहायता की जा सके।


मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, सभी राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासन ने ऐसे विदेशी पर्यटकों की सहायता के लिए एक नोडल अधिकारी को नियुक्त किया है।


लॉकडाउन के कारण एक अमेरिकी नागरिक बिहार के सुपौल जिले में फंस गई जबकि उसके बेटे का दिल्ली में ऑपरेशन होना था। महिला ने वेबसाइट के जरिए अधिकारियों से मदद की गुहार लगाई, जिसके बाद महिला को सभी जरूरी औपचारिकताएं पूरी करके दिल्ली जाने की विशेष अनुमति दिलवाई गई।


बयान के अनुसार, कोस्टारिका को दो नागरिक सर्जरी के लिए चेन्नई आए थे। सर्जरी के बाद लॉकडाउन की वजह से वे वापस न जा सके। पोर्टल के जरिये उन्होंने मदद मांगी और उन्हें आवश्यक दवाएं मुहैया कराई गईं।


अहमदाबाद में अपने परिवार के साथ फंस गए ऑस्ट्रेलियाई पर्यटक को मिरगी की समस्या थी। उसकी दवाएं खत्म हो गई थीं। पोर्टल के जरिये उसने मददमांगी और उसे दवाएं पहुंचाई गईं।


इसी तरह अन्य राज्यों में भी कई फंसे हुए नागरिकों ने मदद की अपील की और प्रशासन की ओर से जरूरी सहायता मुहैया कराई गई।


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
आसाम-बंगाल आम चुनावो के साथ राजस्थान के होने वाले चार उपचुनावो के बाद गहलोत सरकार गिराने की फिर कोशिश हो सकती है! - पायलट समर्थक प्रदेश भर मे किसान महापंचायते आयोजित करके अपना जनसमर्थन बढा रहे है।
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज