औषधि एवं उपचार हेतु आवश्यक वस्तुएं बनाने वाली इकइयों के कर्मियों से कार्यस्थल पर पहुंच कर कर्तव्यों के निर्वहन की अपील

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के औषधि अनुज्ञापन एवं नियंत्रण प्राधिकारी श्री ए0के0 जैन ने प्रदेश की सभी औषधि एवं उपचार हेतु आवश्यक वस्तुएं बनाने वाली इकइयों के कर्मियों से अपील की है कि वे मेडिकल एवं आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता बनाये रखने के लिए कार्यस्थल पर पहुंच कर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। आवश्यक वस्तुओं के निर्माता फर्मों एवं संस्थानों से अनुरोध किया है वह कर्मचारियों की सुरक्षा एवं महामारी से बचाव हेतु आवश्यक कदम उठाएं, जिससे कर्मी अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकें।
     श्री जैन ने अपनी लिखित अपील में कहा है कि कोविड-19 को वैश्विक बीमारी घोषित किया गया है, जिसके दृष्टिगत आम जनमानस को औषधियाॅं, मेडिकल इक्पिमेंट्स एवं अन्य उपयोगी वस्तुएं उपलब्ध कराया जाना आवश्यक है। इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए डाॅक्टर्स, नर्स, औषधि नियंत्रण अधिकारी एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों के प्रयासों को सफल बनाने हेतु औषधियों, जीवन रक्षक दवाइयों, मेडिकल इक्पिमेंट्स आदि की उपलब्ध बनाये रखनी होगी। उन्होंने इसके लिए एक जुट होकर कार्य करने की अपील भी की है। 


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
आसाम-बंगाल आम चुनावो के साथ राजस्थान के होने वाले चार उपचुनावो के बाद गहलोत सरकार गिराने की फिर कोशिश हो सकती है! - पायलट समर्थक प्रदेश भर मे किसान महापंचायते आयोजित करके अपना जनसमर्थन बढा रहे है।