औद्योगिक इकाइयों व संस्थानों के कार्मिकों व श्रमिकों को अप्रेल माह के वेतन भुगतान के लिए राज्य सरकार ने जारी की एडवाईजरी -एसीएस उद्योग डॉ. अग्रवाल


जयपुर, 29 अप्रेल। राज्य सरकार ने औद्योगिक इकाइयोें व संस्थानों के कार्मिकों व श्रमिकों के अप्रेल माह के वेतन भुगतान के लिए एडवाइजरी जारी की है। अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग डॉ. सुबोध अग्रवाल ने जारी एडवाइजरी के माध्यम से औद्योगिक इकाइयों व संस्थानों को अपने कार्मिकों और श्रमिकों को लॉकडाउन अवधि का बिना कटौती के डिजिटल प्लेटफार्म पर लेन-देन के माध्यम से वेतन भुगतान करने को कहा है।
एसीएस उद्योग डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बुधवार को इस आषय की एडवाइजरी जारी कर लॉक डाउन अवधि में औद्योगिक इकाइयांे व संस्थानांे के कार्मिकों और श्रमिकों को लॉक डाउन में बिना कटौती के निर्धारित समय पर डिजीटल प्लेटफार्म पर सीधे खातों में ऑनलाईन या सीधे खातों में हस्तांतरण यानी डीबीटी के माध्यम से या एनईएफटी या आरटीजीएस के माध्यम से भुगतान करने को कहा है। उन्होंने बताया कि औद्योगिक इकाइयों व संस्थानों के कार्मिकों की दैनिक आवष्यकताओं की पूर्ति के लिए वेतन आदि की आवष्यकता को देखते हुए श्रमिकों व कार्मिकों के व्यापक हित में यह एडवाइयजरी जारी कर यह निर्देष दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि पूर्व में 30 मार्च, 2020 को जारी एडवइजरी के क्रम में यह एडवाइजरी अप्रेल माह के वेतन भुगतान के लिए जारी की गई है।
डॉ. अग्रवाल ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन जैसी परिस्थितियों में इन इकाइयों के कार्मिकों व श्रमिकों द्वारा वेतन की आवष्यकता महसूस की जा रही है। ऐसे में औद्योगिक इकाइयों व संस्थानों को लॉकडाउन अवधि में बिना कटोती के समय पर वेतन भुगतान को कहा गया है। एडवाइजरी पुलिस आयुक्त, जिला कलक्टरों, पुलिस अधीक्षकों और श्रम आयुक्त को भी समन्वय  हेतु भेजी गई है।
उद्योग आयुक्त श्री मुक्तानन्द अग्रवाल ने जिला उद्योग केन्द्रों के महाप्रबंधकों को विभागीय एडवाइजरी के व्यापक प्रचार-प्रसार का निर्देष दिए हैं ताकि कार्मिकों व श्रमिकों को समय पर वेतन भुगतान सुनिष्चित हो सके। उन्होंने कार्मिकों व श्रमिकों से भी आग्रह किया है कि कार्मिक व श्रमिक भी जहां तक हो सके डिजीटल प्लेटफार्म पर ही लेन-देन करें व बहुत ही अधिक आवष्यकता पर निकटतम एटीएम से जरुरत के अनुसार राषि प्राप्त करें।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र