आरबीएसके मोबाइल हैल्थ टीमों ने की स्वास्थ्य जांच गांवों में लगे शिविर, 100 रोगी हुए लाभान्वित


सीकर 29 अप्रेल।
                चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत जिले में कार्यरत टीमों द्वारा बुधवार को शिविर लगाकर रोगियों को लाभान्वित किया गया। जिले में पांच स्थानों पर लगे शिविर में 100 रोगियों को लाभान्वित किया गया।
           मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि जिले के दुरूस्थ गांव व ढाणियों में लोगों को उपचार की सुविधा प्रदान करने के लिए मोबाइल हैल्थ टीमों को शिविर लगाने के निर्देश दिए गए। इसके तहत बुधवार को पांच स्थानों पर आयोजित हुए शिविरों में 23 पुरूश, 66 महिलाएं और 11 बच्चों का उपचार कर निशुल्क दवाइयां दी गई। उन्होंने बताया कि शिविरों में गर्भवती महिलाओं को एएनसी की सेवाएं भी दी जा रही है।
            कूदन ब्लॉक में जेरठी में लगे शिविर में चार पुरूष, 17 महिलाए और एक बच्चों का उपचार किया गया। वहीं चार गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच भी की गई। वहीं सेवद बडी में लगे शिविर में पांच पुरूष, 18 महिलाओं का उपचार किया गया। यहां 15 गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य जांच की गई। 
          नीमकाथाना ब्लॉक में अविनाषी में लगे शिविर में नौ गर्भवती महिलाओं को एएनसी सेवाएं दी गई। गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य जांच कर आईएफए व अन्य दवाइयां निशुल्क दी गई। वहीं बराला में लगे शिविर में छह गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य जांच की गई। श्रीमाधोपुर के कंचनपुरा में लगे शिविर में 14 पुरूश, 16 महिलाएं और दस बच्चों सहित 40 रोगियों का उपचार किया गया।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।