आम जनमानस को कोरोना के संक्रमण से बचाना सरकार की पहली प्राथमिकता -डॉ दिनेश शर्मा

लखनऊ: प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए अपनी विधायक निधि से लखनऊ, आगरा तथा रायबरेली के लिए धनराशि जारी करने की संस्तुति दी है। उन्होंने अपने एक माह का वेतन भत्तों सहित कोरोना पीडितों के उपचार व संक्रमण से बचाव के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की भी घोषणा की है। डा शर्मा ने लखनऊ सहित अपने प्रभार वाले दो जिलों (आगरा व रायबरेली) के लिए धनराशि निर्गत करने के लिए मुख्य विकास अधिकारी लखनऊ को पत्र भेज दिया है।  डिप्टी सीएम ने राजधानी लखनऊ के लिए 01 करोड रूपए तथा रायबरेली के लिए 25 लाख व आगरा के लिए 25 लाख रूपए निर्गत करने की संस्तुति की है। इस धनराशि का प्रयोग कोरोना वायरस के आम लोगों के बचाव के लिए आवश्यक उपकरण अथवा अन्य सामान खरीदने के लिए किया जाएगा। 
    डॉ शर्मा ने कहा कि आम जनमानस को कोरोना के संक्रमण से बचाना सरकार की पहली प्राथमिकता है, उसी कडी में इस धनराशि के लिए संस्तुति दी गई है। प्रदेश सरकार कोरोना से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। प्रदेश में हर प्रकार की पुख्ता व्यवस्थाएं की गईं हैं। उन्होंने लोगों से अपील कि वे घर पर ही रहें तथा केवल अति आवश्यक कार्य होने पर ही घर से निकले क्योंकि बचाव ही सुरक्षा का एक मात्र उपाय है। उन्होंने कहा कि देश के सामने कोरोना महामारी का जो संकट खडा हुआ है उससे लडाई में अभी तक लोगों ने काफी सहयोग किया है पर इस सहयोग को और बढाने की आवश्यकता है। यह सहयोग घर में रहकर किया जा सकता है। 
      डा शर्मा ने कहा कि लोगों को मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा की गई अपील का पूरी तरह से पालन करना चाहिए। यह समय एकजुट होकर सरकार के साथ खडे होने और सरकारी निर्देशों के पालन करने का है। जरा सी असावधानी पूरे देश को संकट में डाल सकती है। उन्होंने उम्मीद जताई कि देशवासी एकजुट होकर कोरोना पर विजय प्राप्त करने के बाद एक बार फिर न्यू इंडिया के सपने को साकार करने की दिशा में आगे बढ सकेंगे। उनका कहना है कि लोग परेशान नहीं हों उन्हे घर में सामान की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। प्रदेश सरकार ने डोर स्टेप डिलीवरी के तंत्र को काफी पुख्ता तरह से लागू कर दिया है। आवश्यक वस्तुओं की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। 
      उपमुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापार मंडल के पदाधिकारियों से बात कर सामान की आपूर्ति बनाए रखने की अपील की है।  


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र