सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

थाना मकराना क्षेत्र में अन्धाधुन फायरिंग कर हत्या की  वारदात का पर्दाफाष।


 मकराना (नागोर)! 
                          तीन मार्च को नागौर जिले के डीडवाना निवासी प्रार्थी मोहम्मद युसुफ, मोहम्मद फिरोज, अबरार हुसैन, नबाब, असलम व फिरोज कस्बा मकराना में एक शादी समारोह में शरीक होकर अपनी स्विफ्ट गाडी से वापस डीडवाना जाते समय रात्रि लगभग 8.00 बजे जुसरी तिराहा के पास मोहम्मद फिरोज पानी की बोतल लेने के लिये उतरा तभी अज्ञात मुलजिमान ने मोहम्मद फिरोज व उनकी गाडी की तरफ अन्धाधुन फायरिंग कर दी। फायरिंग में मोहम्मद फिरोज की मौत हो गई व नबाब गोली लगने से घायल हो गया। घटना पर प्रकरण संख्या 73/20 धारा 302,307,341,323/34 आईपीसी व 3/25 आम्र्स एक्ट पुलिस थाना मकराना पर दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया गया।
           घटना की गम्भीरता को देखते हुये महानिरीक्षक पुलिस अजमेर रेंज अजमेर डाॅ0 हवासिंह धुमरिया के निर्देषन में डाॅ0 विकास पाठक पुलिस अधीक्षक, जिला नागौर के सुपरविजन में श्री नितेष आर्य अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डीडवाना, श्री सुरेष कुमार सांवरिया वृताधिकारी मकराना व श्री गणेषाराम चैधरी वृताधिकारी डीडवाना के नेतृत्व में श्री जितेन्द्र चारण पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी मकराना, श्री सुभाष चन्द पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी परबतसर, श्री जगदीष प्रसाद मीणा थानाधिकारी डीडवाना, हैड कानि0 करामत खाँ, पर्वतसिंह, गजेन्द्रसिंह, कानि0 लतीफ खाँ, सुषील कुमार, राजेन्द्र मीणा व पुलिस अधीक्षक कार्यालय नागौर की साईबर सैल से हैड कानि0 लक्ष्मीनारायण यादव, मूलाराम गुजर एवं श्याम प्रताप गौड़ की अलग-अलग टीमों का गठन कर तत्काल प्रकरण का खुलासा कर मुलजिमान को गिरफ्तार करने हेतु निर्देष दिये गये। 
               गठित टीम द्वारा घटनास्थल के आसपास की दुकानों व कस्बा मकराना के रास्तों पर होटल व ढाबांे पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फूटेज प्राप्त कर दुकानदारों से मुलजिमान के बारे में जानकारी एकत्र की गई। पुलिस टीमों द्वारा आसूचना संकलन से जानकारी मिली की मुलजिमान द्वारा प्लसर मोटरसाईकिल से आकर वारदात को अंजाम दिया गया था एवं यह तथ्य भी जानकारी में आये की समीर नाम का अपराधी घटना के दिन मकराना आया हुआ था जिसके विरूद्ध पूर्व में भी लूटपाट एव संगीन अपराध के अनेक प्रकरण दर्ज हैं। पुलिस टीमों द्वारा घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल के बारे में जानकारी प्राप्त करने पर मोटर साईकिल का मालिक सलीम उर्फ जगदीष पुत्र सदीक निवासी इकबालपुरा मकराना होना पाया गया जो लगातार मुलजिम समीर के सम्पर्क में होना भी जानकारी में आया। पुलिस टीम द्वारा सलीम उर्फ जगदीश को दस्तयाब कर पूछताछ करने पर यह तथ्य सामने आये की तीन फरवरी को आरीफ, अकबर, समीर व समीर के तीन अन्य साथी सलीम के इकबालपुरा स्थित मकान पर आये थे। वहां से सभी गांगवा रोड पर गये एवं शराब पीकर मकराना के एक व्यापारी की हत्या करने की योजना बनाई। योजना के अनुसार सभी मुलजिमान गांगवा रोड से मंगलाना रोड होकर मकराना गये जहां पर पुलिस नाकाबंदी देखकर नायकों की ढाणी होते हुये जुसरी तिराहा पहुंचे। वारदात में प्रयुक्त मोटरसाईकिल मुलजिम समीर द्वारा लाये गये शूटरों ने ले ली एवं समीर द्वारा सलीम उर्फ जगदीष, अकबर एवं आरीफ को अपनी कार में बैठा लिया गया। मुलजिमान ने योजनानुसार जुसरी तिराहा पर आकर कार को मालियों की ढाणी के रास्ते पर खड़ी कर दी एवं आरीफ को जिसकी हत्या करनी है उसके बारे में बताने को कहा गया। समीर द्वारा लाये गये शूटर जुसरी तिराहा पर खडे़ हो गये इसी दौराने मृतक मोहम्मद फिरोज पानी की बोतल लेने के लिये गाडी से उतरते समय वहां खड़े मुलजिम आरीफ से टकरा जाता है जिस पर समीर द्वारा लाये गये शूटरों नें मोहम्मद फिरोज पर अन्धाधुन फायरिंग शुरू की दी जिससे मोहम्मद फिरोज की गोली लगने से मौत हो जाती है व गाडी में बैठा नबाब गोली लगने से घायल हो जाता है। 
          पुलिस टीम द्वारा प्रकरण में अब तक निम्न तीन मुलजिमान को गिरफ्तार किया जा चुका हैः


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

       लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार। 9 में से 4 लोग को पुलिस ने किया गिरफ्तार। सीसीटीवी और सर्विलांस के जरिए उन तक पहुंची पुलिस। नमाज अदा करने वालों में मोहम्मद रेहान पुत्र मोहम्मद रिजवान निवासी खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर , लखनऊ। दूसरा आतिफ खान पुत्र मोहम्मद मतीन खान थाना मोहम्मदी जिला लखीमपुर मौजूदा पता खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। तीसरा मोहम्मद लुकमान पुत्र मनसूर अली मूल पता लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। मोहम्मद नोमान निवासी लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। पकड़े गए चार लड़कों में सीतापुर के रहने वाले दोनों सगे भाई निकले। लखनऊ में एक ही मोहल्ले में रहने वाले चारों लड़कों ने  पढ़ी थी लुलु मॉल में एक साथ जाकर नमाज।    अबरार नगर, खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर के रहने वाले हैं चारों लड़के। सुशांत गोल्फ सिटी पुलिस ने लूलू मॉल में बिना अनुमति नमाज पढ़ने वालों को किया गिरफ्तार।।  

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह