राज्यपाल की अध्यक्षता में उत्तर प्रदेश रेडक्रास सोसायटी की बैठक हुई


उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल की अध्यक्षता में आज यहां राजभवन में कोरोना पीड़ितों व लाॅकडाउन प्रभावितों के संबंध में इंडियन रेडक्रास सोसायटी, उत्तर प्रदेश स्टेट शाखा की बैठक हुई। इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि संस्था को अपने वालंटियर की संख्या को ओर बढ़ाना चाहिए, जिससे लोगों की मदद करने में आसानी हो सके। उन्होंने कहा कि रेडक्रास सोसायटी के पदेन अध्यक्ष जिलाधिकारियों को चाहिए कि संस्थाओं को अधिक से अधिक उपयोग में लायें और उनके सदस्यों के ड्यूटी पास भी जारी करें, जिससे सामग्री वितरण में कोई कठिनाई न हो।
इस अवसर पर उत्तर प्रदेश रेडक्रास सोसायटी के महासचिव डा0 श्याम स्वरूप, उपाध्यक्ष डा0 हिमा बिन्दु नायक सहित अन्य प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।
इससे पहले उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज यहां राजभवन में मराठी समाज उत्तर प्रदेश एवं इण्डियन बुलियन ज्वैलर्स संस्था की ओर से 500 पैकेट जरूरतमंद परिवारों के लिए राहत सामग्री ( प्रति पैकेट में सामग्री 5 किग्रा आटा, 5 किग्रो चावल, 2 किग्रा चीनी, 2 किग्रा दाल, 1 किग्रा नमक, 250 ग्राम चाय पत्ती व 1 पैकेट रस) के वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह राहत सामग्री जागरूक नागरिक कल्याण समिति, उम्मीद संस्था लखनऊ तथा आयुक्त लखनऊ के यहां उपलब्ध करायी जायेगी, ये लोग लाॅकडाउन से प्रभावित लोगों में वितरित करेंगे।
इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष मराठी समाज उत्तर प्रदेश श्री उमेश पाटिल, धर्मेंद्र गुप्ता, अजय रस्तोगी, आराधना सिंह, सुहेल हैदर दीपक महेश्वरी, अरविन्द पाठक एवं पवन अग्रवाल उपस्थित थे।
राज्यपाल के निर्देश पर राजभवन के आसपास ड्यूटी कर रहे अन्य जनपद के पुलिसकर्मियों को प्रातः 11 बजे एवं सांय 4 बजे चाय, बिस्किट व पानी तथा दोपहर 1 बजे 250 लंच पैकेट आज से राजभवन द्वारा वितरित किया जा रहा है, जो आगामी 14 अप्रैल तक वितरित किया जायेगा।


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
आसाम-बंगाल आम चुनावो के साथ राजस्थान के होने वाले चार उपचुनावो के बाद गहलोत सरकार गिराने की फिर कोशिश हो सकती है! - पायलट समर्थक प्रदेश भर मे किसान महापंचायते आयोजित करके अपना जनसमर्थन बढा रहे है।
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज