पुलिस ने एक अ्प्रैल को अफवाह न फैलाने को कहा

औरंगाबाद,  :: महाराष्ट्र में औरंगाबाद पुलिस ने लोगों को ‘अप्रैल फूल डे’ पर सोशल मीडिया पर कोरोना वायरस को लेकर अफवाह फैलाने या किसी तरह की शरारत (प्रैंक) करने के खिलाफ आगाह किया है।


पुलिस उपायुक्त मीणा मकवाना ने कहा कि व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन और मोबाइल मैसेजिंग ऐप पर ऐसे संदेश पोस्ट करने वाले सदस्य के खिलाफ मामले दर्ज किए जाएंगे।


अधिकारी ने कहा, ‘‘ कई लोग एक अप्रैल को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शरारत (प्रैंक) करते हैं। नागरिकों से कोरोना वायरस को लेकर कोई मजाक ना करने को कहा गया है। ऐसे संदेश भ्रम पैदा कर सकते हैं।’’


उन्होंने कहा, ‘‘ अगर ऐसे संदेश व्हाट्सएप पर मिले तो संदेश साझा करने वाले और उस ग्रुप के एडमिन के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।’’


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
आसाम-बंगाल आम चुनावो के साथ राजस्थान के होने वाले चार उपचुनावो के बाद गहलोत सरकार गिराने की फिर कोशिश हो सकती है! - पायलट समर्थक प्रदेश भर मे किसान महापंचायते आयोजित करके अपना जनसमर्थन बढा रहे है।