पूर्व केंद्रीय मंत्री सुभाष महरिया ने विपदा मे फंसे लोगो की मदद के लिये कमर कसी।


सीकर।
             आम-अवाम के मध्य हरदम रहकर उनके सुखदुख मे भागीदार रहने वाले पूर्व केन्द्रीय मंत्री व कांग्रेस नेता सुभाष महरिया ने अचानक लोकडाऊन के आदेश जारी होने से विपदा मे फंसे अपने क्षेत्रवासियों व क्षेत्र मे रह रहे दिहाड़ी मजदूर व गरीब लोगो के दुखों मे अपने आपको बराबर का भागीदार मानते हुये उनके लिये हर तरह की राहत का इंतजाम पुख्ता करने मे लग गये जो लगातार जारी है।
              लोकडाऊन के कारण क्षेत्र मे फंसे गरीब-दिहाड़ी मजदूर व बेसहारा लोगो के लिये पिछले पांच-छ दिन से सुधीर महरिया स्मृति संस्थान द्वारा रोजाना सेंकड़ो खाद्य सामग्री के किट उपलब्ध करवाये जा रहे है। खाद्य सामग्री किट मे एक साधारण परिवार के लिये पंद्रह दिन की सभी तरह की आवश्यक सामग्रियों का समावेश किया गया है।
              जानकारी अनुसार सीकर से बाहर प्रदेश के अन्य जिलो मे फंसे क्षेत्रवासियों के अतिरिक्त प्रदेश के बाहर कर्नाटक, गुजरात, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना व महाराष्ट्र मे लोकडाऊन के चलते फंसे क्षेत्रवासियों द्वारा दूरभाष या अन्य तरीकों से सुभाष महरिया से मदद के लिये सम्पर्क करने पर महरिया उनसे वहां से नही निकलने की सलाह देने के साथ साथ अपने सम्पर्क सूत्रो के मार्फत उनकी हर तरह की मदद भी लगातार उसी जगह करवा रहे है।
              कुल मिलाकर यह है कि कोराना वायरस के बचाव के चलते भारत भर मे जारी लोकडाऊन के कारण अनेक लोगो के सामने भोजन की बडी समस्या आ खड़ी हो गई है। सुबह शाम पैट भरने के लिये साधारण खाद्य सामग्री का जुगाड़ भी नही होने की स्थिति मे पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुभाष महरिया का मजबूर-लाचार व हालात के मारे लोगों के साथ खड़े होने को एक मिशाली कार्य समझा जा रहा है। विपदा के इस हालात मे अगर सुभाष महरिया का अनुशरण भी अन्य जन नैता करने लगे तो मौजूदा हालात से अवाम को आसानी से उभार कर मूल्क की अवाम को बचाया जा सकता है।


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कांग्रेस विधायक एक एक करके दूर होने लगे!
इमेज
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।