लॉकडाउन के दौरान पुलिस की पिटाई से एक युवक की मौत,परिवार वालों ने लगाया आरोप

सीकर: लॉकडाउन के दौरान पुलिस की पिटाई से एक युवक की मौत हो गई है। युवक सीकर के त्रिलोकपुरा का रहने वाला था और दवाई लेकर कुचामन जा रहा था। परिजन गंभीर अवस्था में एंबुलेंस से रविवार रात को घर लेकर पहुंचे थे। सोमवार सुबह उसकी अस्पताल ले जाने से पहले ही मौत हो गई थी। परिजनों ने रानोली थाने में मुकदमा दर्ज करवाया है। रानोली पुलिस ने जीरो नम्बरी एफआईआर दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवा दिया है।


जानकारी के अनुसार रानोली इलाके के त्रिलोकपुरा निवासी रामसिंह शेखावत कुचामन की एक डिफेंस एकेडमी में पिछले डेढ़ साल से काम कर रहा था। इस दौरान लॉकडाउन के दौरान वह गांव त्रिलोकपुरा दवाईयां लेने के लिए आया था। दवाई लेकर वह वापस बाइक से कुचामन जा रहा था। परिजनों ने आरोप लगाया है कि रामसिंह के साथ अलग-अलग जगह पर दो बार पुलिसकर्मियों ने पिटाई की।


उसे पहले तो पांचवां में और फिर कुचामन में पुलिसकर्मियों ने बेहरमी से मारा। उसके शरीर पर गहरी चोंटें लगी है और वो घायल हो गया। उसने कुचामन पहुंच कर फोन पर परिजनों को बताया। फोन आने के बाद परिजन रविवार देर रात रामसिंह को घायलावस्था में एंबुलेंस से त्रिलोकपुरा घर लाए।


इस दौरान सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। परिजनों ने रानोली थाने में पुलिस पिटाई का आरोप लगाकर रिपोर्ट दर्ज करवाई है। पुलिस ने जीरो नम्बरी एफआईआर दर्ज कर सीकर के कल्याण अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।


टिप्पणियां
Popular posts
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।