कोरोना महामारी में हर चीज़ के भाव बढ़े पर चिकित्सकों की फीस आज भी जस की तस : सैलूट

चित्रकूट। कोरोना महामारी में लॉक डाउन के चलते गेहूं से लेकर सब्ज़ी भाजी के भाव मे भले बढ़ोत्तरी हो गई हो लेकिन चिकित्सा की दुनिया आज भी उसी तरह सेवा भाव मे जुटी हुई है।चिकित्सक ही एक ऐसे है जिन्होंने ना तो अपनी फीस में वृद्धि की है ना हीं कार्य के प्रति कोई लापरवाही बरती जा रही है और ज़रूरतमंद गरीब को आज भी निःशुल्क सेवा कर रहे हैं। शायद इसीलिए इन्हें धरती का भगवान कहा गया है बावजूद इसके हम सभी इन भगवान की थोड़ी बहुत गलतियों पर बिफर उठते हैं और सोशल मीडिया में ज़हर उगलने का कार्य करते हैं। हम सभी को धरती के भगवान को सलाम करना चाहिए और इस माहौल में उनकी इज़्ज़तो अफ़ज़ाई करके शुक्रिया अदा करना चाहिए।


 


टिप्पणियाँ
Popular posts
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
लखनऊ : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के 51 वे जन्म दिवस पर NSUI के आदित्य चौधरी द्वारा अनाथालय में अनाथ बच्चों को आवश्यक वस्तुएँ का वितरण किया गया
चित्र
कायमखानी बिरादरी 14-जुन को दादा कायम खां दिवस पर प्रदेश भर मे जगह जगह रक्तदान शिविर लगा रही है।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र
युवाओं की तरफ एक दफा फिर से झांकती राजस्थान की कायमखानी बिरादरी।
चित्र