केन्द्र सरकार द्वारा पेट्रोलियम पदार्थों पर उत्पाद शुल्क बढ़ाकर आम जनता की जेब पर डाका डालने का काम किया है: अजय कुमार लल्लू

लखनऊ :: तेल की कीमतों में पिछले सप्ताह 30 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई है। कच्चे तेल की कीमत वर्तमान समय में 33 डाॅलर प्रति बैरल है, जो पिछले 2 दशकों में सबसे कम है। वैश्विक आर्थिक मंदी के बीच तेल की कम मांग के कारण कच्चे तेल की कीमतें लगातार गिरी हैं, लेकिन केन्द्र की भाजपा सरकार आम जनता को कच्चे तेल में हुई इस भारी गिरावट का लाभ नहीं दे रही है बल्कि कच्चे तेल में हुई भारी गिरावट से आम लोगों को तेल के दामों में कमी करके मंहगाई से राहत देने के बजाय पेट्रोल और डीजल पर और ज्यादा उत्पाद शुल्क लगा दिया है। उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी ने कहा कि आज ही सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में 3 रूपये की बढ़ोतरी की है जो पूरी तरह जनविरोधी कदम है। उत्पाद शुल्क में की गयी बढ़ोत्तरी से भाजपा सरकार का जनविरोधी चेहरा सामने आ गया है। 

 अजय कुमार लल्लू जी ने कहा कि वर्ष 2008 में केन्द्र में जब यूपीए सरकार थी उस समय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि हुई थी किन्तु यूपीए सरकार ने आम जनता के हितों को देखते हुए पेट्रोल और डीजल के दामों को स्थिर रखा था। 


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यूपीए सरकार में 2014 में कच्चे तेल की कीमत 107 डालर प्रति बैरल थी तब पेट्रोल 71 रूपये प्रति लीटर और डीजल 55 रूपये प्रति लीटर तथा पेट्रोल में उत्पाद शुल्क 9 रूपये तथा डीजल पर 3रूपये 50 पैसे था। वर्तमान समय में जबकि कच्चे तेल की कीमत मात्र 33 डाॅलर प्रति बैरल है और पेट्रोल 75 रूपये तथा डीजल 65 रूपये प्रति लीटर है वहीं पेट्रोल पर उत्पाद शुक्ल 23 रूपये तथा डीजल पर 19 रूपये प्रति लीटर बढ़कर हो गया है। केन्द्र सरकार द्वारा पूर्व में यह निर्णय लिया गया था कि डीजल और पेट्रोल के दामों में अन्र्तराष्ट्रीय कच्चे तेल के दामों के सापेक्ष घटेंगे और बढ़ेंगे, किन्तु आज जब अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बहुत अधिक गिरकर तीन गुना से अधिक कम हो गये हैं तब भी पेट्रोल और डीजल के दामों में कमी न करके और उत्पाद शुल्क बढ़ाकर भाजपा सरकार ने आम जनता की जेब पर डाका डालने का काम किया है। 


  प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता डाॅ0 अनूप पटेल ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी के निर्देशानुसार पेट्रोल, डीजल और एलपीजी के दामों में कम से कम 35 से 40 प्रतिशत की कमी किए जाने, पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के तहत लाए जाने और पेट्रोलियम उत्पादों पर उत्पाद शुल्क/सीमा शुल्क में की गयी वृद्धि को तुरन्त वापस लेने हेतु आगामी 16 मार्च 2020 को उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी की सभी जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटियां प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर धरना एवं विरोध प्रदर्शन करेंगीं।

टिप्पणियां
Popular posts
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
किसान नेता राकेश टिकेत पर हमले के खिलाफ राजस्थान के किसानों मे आक्रोश।
इमेज
राजस्थान मे ब्यूरोक्रेसी मे बडा फेरबदल -- सड़सठ भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के तबादले। - जाकीर हुसैन को श्रीगंगानगर जिला कलेक्टर के पद पर लगाया।
इमेज
इंशाअल्लाह सीकर से सर सैयद अहमद खां वाहिद चोहान जल्द स्वस्थ होकर अस्पताल से हमारे मध्य लोटकर फिर महिला शिक्षा को ऊंचाई देगे।
इमेज
राजस्थान मे उधोगों की सुगमता स्थापना तथा निवेश को बढावा देने की घोषणाओं पर अमल शुरू।