जिला खनिज फाउंडेशन न्यास निधि से कोविड-19 के संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण हेतु उपकरणों आदि की खरीद पर प्रदान किया गया शिथिलीकरण - डा0 रोशन जैकब

लखनऊः प्रदेश की सचिव/निदेशक, भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग डा0 रोशन जैकब ने बताया कि प्रदेश में जिला खनिज फाउंडेशन न्यास निधि से कोविड-19 के संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण हेतु, परीक्षण स्क्रीनिंग और अन्य उपकरण की खरीदध्स्थापना हेतु शिथिलीकरण प्रदान किया गया है । खान मंत्रालय भारत सरकार की गाइडलाइन का हवाला देते हुए उन्होने बताया कि इस संबंध में प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह खान मंत्रालय भारत सरकार के  निर्देशानुसार कोविड-19 महामारी पर नियंत्रण हेतु जिला खनिज फाउंडेशन न्यास निधि में उपलब्ध  धनराशि की 30 प्रतिशत धनराशि  व्यय कर सकते हैं। 


उन्होंने बताया कि जिन जिलों में कोविड-19 के पॉजिटिव केस पाए गए हैं, वहां पर जिलाधिकारी, करोना वायरस के नियंत्रण हेतु जिला खनिज  निधि से 30 प्रतिशत धनराशि मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स और मिनिस्ट्री आफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर की गाइडलाइन के अनुसार आवश्यक मेडिकल उपकरण की खरीदध्स्थापना  आदि के लिए उपयोग कर सकते हैं उपयुक्त होगा कि जिलाधिकारी सीएमओ से वार्ता करके क्रय की जाने वाली सामग्री का आंकलन कर लें। जिलाधिकारी फेस मास्क ,साबुन ,सैनिटाइजर और गरीबो के लिये फूड डिस्ट्रीब्यूशन  पर  30 परसेंट धनराशि व्यय  कर सकते हैं ,लेकिन यह शर्त है कि इन जिलों में तब यह धनराशि व्यय कर सकते हैं, जब जिलाधिकारी के पास अन्य किसी निधि में पर्याप्त धन उपलब्ध न हो। डॉ रोशन जैकब ने जिलाधिकारियों को इस संबंध में यह भी निर्देश दिये हैं न्यास निधि से व्यय की जाने वाली धनराशि का विवरण निर्धारित प्रारूप पर नियमित रूप से शासन व भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय उत्तर प्रदेश को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
शमशेर खां की दांडी यात्रा के समर्थन मे आज प्रदेश के गावं-गाव से शहरो तक पदयात्रा निकाल कर उपखण्ड अधिकारी व जिला कलेक्टरस को ज्ञापन दिये गये।
चित्र