सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

जीरो टाॅलरेन्स का दावा करने वाले मुख्यमंत्री परत-दर-परत खुल रहे घोटालों पर जवाब दें: अजय कुमार लल्लू


लखनऊ  :: उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू ने प्रदेश की भाजपा सरकार   को आड़े हाथो लेते हुए कहा की उत्तर प्रदेश को बेहतर प्रदेश बनाने का दावा करने वाली भाजपा सरकार ने उ0प्र0 को घोटाला प्रदेश बना दिया है। पिछले तीन साल में घोटालों के अम्बार लग गए हैं।  हाल में ही युवा कल्याण, पीआरडी में लगभग 25 करोड़ रूपये का घोटाला सामने आया है। अपात्र फर्म को 25 करोड़ का टेण्डर दिया गया जो विभाग के मानकों के अनुरूप नहीं था। अफसरों ने नियम-कानून को ताक पर रखकर खेल सामग्री खरीद में करोड़ों का घोटाला कर दिया। जहां 600 रूपये का फुटबाल 950 रूपये में खरीदा गया, 600 रूपये का डंबल 2300 रूपये में खरीदा गया, यह खरीददारी नवयुवक मंगल दल के नाम पर की गयी। जबकि हकीकत यह है कि युवकों का नहीं सत्ताधारी दल के नेताओं और अफसरों का मंगल हो रहा है।


उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष  अजय कुमार लल्लू ने कहा कि इसी तरीके से बाराबंकी में स्वच्छ भारत अभियान के तहत लगभग तीन करोड़ रूपये का घोटाला हुआ है। बाराबंकी में हर चैथा शौचालय सिर्फ कागजों पर है। जिला प्रशासन द्वारा शिकायतों की जांच करने पर सत्यता सामने आयी है कि 9333 शौचालय की जगह 7774 शौचालय ही मात्र निर्मित मिले और 548 शौचालय बने ही नहीं, उसका पैसा अधिकारियों और कर्मचारियों की मिलीभगत की भेंट चढ़ गया।
इसी प्रकार राज्य भंडारागार निगम के कर्मचारियों की मिलीभगत से हुए लगभग 12 करोड़ रूपये का घोटाला सामने आया है।
पंचायती राज विभाग में परफार्मेन्स ग्रान्ट में 700 करोड़ रूपये का घोटाला सार्वजनिक हुआ है लेकिन अभी तक कोई भी ठोस कार्यवाही नहीं हुई है। होमगार्ड जवानों की ड्यूटी में सैंकड़ों करोड़ रूपये का घोटाला हुआ है।
बिजली विभाग में लगभग 40 हजार कर्मचारियों के पीएफ का 2267 करोड़ रूपये का घोटाला उ0प्र0 की योगी सरकार का सबसे बड़ा घोटाला सामने आया जिसमें ऊर्जा मंत्री की भी संलिप्तता उजागर हुई है लेकिन प्रदेश सरकार ने अभी तक दोषियों के खिलाफ कोई भी सख्त कदम नहीं उठाया है।
प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी ने कहा कि सरकार बनने के समय से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जीरो टाॅलरेन्स की बात कर रहे हैं लेकिन नित्य नये घोटाले टी0वी0 और अखबारों की सुर्खियां बन रहे हैं और परत दर परत जनता के सामने आ रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री की जवाबदेही बनती है कि वह प्रदेश में फल फूल रहे इन घोटालों पर जनता के बीच जवाब दें।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

       लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार। 9 में से 4 लोग को पुलिस ने किया गिरफ्तार। सीसीटीवी और सर्विलांस के जरिए उन तक पहुंची पुलिस। नमाज अदा करने वालों में मोहम्मद रेहान पुत्र मोहम्मद रिजवान निवासी खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर , लखनऊ। दूसरा आतिफ खान पुत्र मोहम्मद मतीन खान थाना मोहम्मदी जिला लखीमपुर मौजूदा पता खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। तीसरा मोहम्मद लुकमान पुत्र मनसूर अली मूल पता लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। मोहम्मद नोमान निवासी लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। पकड़े गए चार लड़कों में सीतापुर के रहने वाले दोनों सगे भाई निकले। लखनऊ में एक ही मोहल्ले में रहने वाले चारों लड़कों ने  पढ़ी थी लुलु मॉल में एक साथ जाकर नमाज।    अबरार नगर, खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर के रहने वाले हैं चारों लड़के। सुशांत गोल्फ सिटी पुलिस ने लूलू मॉल में बिना अनुमति नमाज पढ़ने वालों को किया गिरफ्तार।।  

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह