जनगणना को एनपीआर से अलग किया जाये : माकपा

नयी दिल्ली,  ::  माकपा ने जनगणना और राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (एनपीआर) के लिए एक साथ आंकड़े एकत्र किए जाने का कई राज्यों द्वारा विरोध किए जाने का हवाला देते हुए कहा है कि एनपीआर और जनगणना के अलग अलग आंकड़े एकत्र करना जरूरी है।


माकपा पोलित ब्यूरो ने बुधवार को बयान जारी कर कहा कि हर दशक के अंतराल पर जनगणना कराना संवैधानिक अनिवार्यता है, जबकि एनपीआर के आंकड़े नागरिकता संशोधन अधिनियम 2003 के अंतर्गत एकत्र किए जाते हैं। इसलिए कानूनी तौर पर इन दोनों को एक दूसरे से जोड़ कर नहीं देखा जाना चाहिए।


वाम पार्टी ने इस बात पर जोर दिया कि एनपीआर के आंकड़ों को राष्ट्रीय नागरिकता पंजी (एनआरसी) में इस्तेमाल किया जायेगा। पार्टी ने यह आशंका भी जताई कि एनआरसी में जिन करोड़ों लोगों के नाम दर्ज नहीं होंगे, उन्हें तमाम तरह के दस्तावेजी सबूतों के आधार पर भारतीय नागरिकता साबित करने के लिए प्रताड़ित किए जाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।


माकपा पोलित ब्यूरो ने हाल ही में कराए गए एक अध्ययन के आधार पर कहा कि महज 43 प्रतिशत भारतीय नागरिकों के पास अपनी नागरिकता के दस्तावेज मौजूद हैं। पार्टी ने इस सच्चाई के मद्देनजर एनपीआर के खिलाफ अपना विरोध जारी रखने की बात कही। 


टिप्पणियां
Popular posts
राजस्थान मे ब्यूरोक्रेसी मे बडा फेरबदल -- सड़सठ भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के तबादले। - जाकीर हुसैन को श्रीगंगानगर जिला कलेक्टर के पद पर लगाया।
इमेज
मेडिकल व इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षा की कोचिंग करने वालो का आनलाइन डाटा तैयार किया जायेगा।
इमेज
इंशाअल्लाह सीकर से सर सैयद अहमद खां वाहिद चोहान जल्द स्वस्थ होकर अस्पताल से हमारे मध्य लोटकर फिर महिला शिक्षा को ऊंचाई देगे।
इमेज
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
शेखावाटी जनपद के मुस्लिम समुदाय मे बहती अलग अलग धाराऐ युवाओं को किधर ले जायेगी!
इमेज