सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

असमय वर्षा, ओलावृष्टि से किसानों की हुई बर्बाद फसलों एवं लोगों की हुई मौतों पर तुरन्त मुआवजा प्रदान करे सरकार: अजय कुमार लल्लू

लखनऊ :: केन्द्र सरकार द्वारा कच्चे तेल के दामों में लगभग तीन गुने की भारी कमी के बावजूद डीजल और पेट्रोल के उत्पाद शुल्क पर तीन रूपये प्रति लीटर की बढ़ोत्तरी करके तेल कम्पनियों के मालिक पूंजीपति मित्रों मुनाफाखोरी का रास्ता खोला गया है। कांग्रेस पार्टी अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के मूल्य में हुई भारी कमी होने के बावजूद आम जनता केा इसका लाभ न मिलने और मुनाफाखोरी के खिलाफ तथा असमय वर्षा, ओलावृष्टि और तेज हवाओं के चलते हुई फसलों की भारी बर्बादी और इस आपदा से हुई लगभग चार दर्जन लेागों की दुःखद मृत्यु पर समुचित आर्थिक मुआवजा प्रदान किये जाने की मांग को लेकर आज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी के निर्देश पर उ0प्र0 के सभी जनपद मुख्यालयों पर सरकार के खिलाफ कांग्रेसजनों द्वारा विरोध प्रदर्शन कर विरोध दर्ज कराया गया।
इसी क्रम में आज राजधानी लखनऊ के जीपीओ पार्क स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की प्रतिमा के सामने सैंकड़ों कांग्रेसजनों द्वारा विशाल धरना-प्रदर्शन किया गया। जिसमें केन्द्र एवं राज्य सरकार से कच्चे तेल के दाम में आयी भारी कमी का लाभ देश और प्रदेश की जनता को दिये जाने की मांग की गयी।
उल्लेखनीय है कि मौजूदा समय में कच्चे तेल की कीमत 30 डाॅलर प्रति बैरल के नीचे पहुंच गया है। जबकि यूपीए की सरकार में जब कच्चे तेल की कीमत लगातार 100 डाॅलर प्रति बैरल से ऊपर थी तब पेट्रोल 71 रूपये और डीजल 55 रूपये प्रति लीटर बिक रहा था तथा सरकार द्वारा पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 9 रूपये तथा डीजल पर 3रूपये 50 पैसे था। यही जब 1991-92 में 30 डाॅलर प्रति बैरल से नीचे कच्चा तेल था तो कांग्रेस सरकार जनता को 17 रूपये में पेट्रोल और 13 रूपये प्रति लीटर डीजल मुहैया करा रही थी। लेकिन बड़े दुःख की बात है कि मौजूदा सरकार को जनता के हितों की कोई फिक्र नहीं है। आज 30 डालर प्रति बैरल कच्चा तेल सबसे न्यूनतम स्तर होने के बावजूद भी पेट्रोल 70 रूपये और डीजल 65 रूपये प्रति लीटर खरीदने के लिए देश और प्रदेश की जनता को मजबूर किया जा रहा है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि असमय वर्षा, ओलावृष्टि, तेज हवा से हमारे प्रदेश के किसानों की फसलों की बहुत ज्यादा क्षति हुई है तथा लगभग चार दर्जन से अधिक लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। प्रदेश सरकार पूरी तरह उदासीन होकर सिर्फ शोशेबाजी कर रही है। कांग्रेस पार्टी मृतकों को बीस-बीस लाख रूपये एवं किसानों की बर्बाद हुई फसलों का पूरा मुआवजा दिये जाने की मांग करती है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी ने कहा है कि 90 प्रतिशत देश की जनता डीजल और पेट्रोल की उपभोक्ता है चाहे वह कृषि क्षेत्र में आने वाले ट्रैक्टर, पम्पिंग सेट या अन्य कृषि संयत्र अथवा स्वयं के उपयोग के लिए दो पहिया और चार पहिया वाहन हों, माल ढुलाई एवं यातायात के साधन आदि सभी में डीजल और पेट्रोल की खपत होती है ऐसे में देश और प्रदेश की भाजपा सरकार मंहगाई को नियंत्रित करने एवं जनता के हितों पर ध्यान न देकर अपने पूंजीपति मित्रों के माध्यम से तेल कंपनियों को मुनाफाखोरी करवा रही है और आम जनता की जेब पर डाका डाल रही है। उन्होने ने कहा है कि पार्टी केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार द्वारा पेट्रोलियम पदार्थों पर की जा रही इस मुनाफाखोरी के खिलाफ जनता के हित में इसका लाभ दिलाये जाने और उत्पाद शुल्क को वापस लेने तथा अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत के अनुपात में तेल के दामों में कमी किए जाने की मांग पर निरन्तर सड़क से सदन तक संघर्ष करती रहेगी।
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता बृजेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि पेट्रोल और डीजल के दामों में कमी किये जाने और केन्द्र सरकार द्वारा लगाये गये उत्पाद शुल्क को वापस लेने की मांग को लेकर आज प्रदेश के सभी जनपदों में जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटियों के तत्वावधान में कांग्रेसजनों द्वारा व्यापक धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया गया और सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों को ज्ञापन के माध्यम से मांग पत्र सौंपा गया।
श्री सिंह ने बताया कि मिली सूचना के अनुसार प्रदेश के मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, आगरा, अलीगढ़, मैनपुरी, कानपुर, फतेहपुर, झांसी, बांदा, प्रयागराज, प्रतापगढ़, रायबरेली, अमेठी, फैजाबाद, गोण्डा, बहराइच, सीतापुर, लखीमपुर, बरेली, मुरादाबाद, अमरोहा, बस्ती, सिद्धार्थनगर, गोरखपुर, बाराबंकी, उन्नाव, महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, आजमगढ़, वाराणसी, मिर्जापुर, भदोही आदि प्रदेश के समस्त जनपदों में व्यापक पैमाने पर धरना-प्रदर्शन किया गया।
राजधानी लखनऊ में आयेाजित धरना-प्रदर्शन में मुख्य रूप से पूर्व मंत्री श्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व विधायक श्री श्यामकिशोर शुक्ल, पूर्व विधायक श्री सतीश अजमानी, प्रदेश कांग्रेस के सचिव एवं लखनऊ प्रभारी श्री रमेश कुमार शुक्ल, श्री वीरेन्द्र मदान, शहर कांग्रेस कमेटी लखनऊ के अध्यक्ष श्री मुकेश सिंह चैहान, श्री वेद प्रकाश त्रिपाठी, श्री अरशी रजा, श्री जे0पी0 मिश्रा, श्री अशोक सिंह, श्री सम्पूर्णानन्द, श्री विजय बहादुर, श्री नरेन्द्र गौतम, डा0 जियाराम वर्मा, श्री उबैद नासिर, श्री जीशान हैदर, डा0 धु्रव त्रिपाठी, श्री रमेश मिश्रा, श्री राजेन्द्र पाण्डेय, डा0 अनूप पटेल, श्री विजय कनौजिया, श्री अजय श्रीवास्तव अज्जू, श्री सुभाष मिश्रा, श्री दीपक भट्ट, डा0 आर0सी0 उप्रेती, डा0 पी0के0 त्यागी, श्री शोएब खान, श्री राजेश सिंह, श्रीमती रफत फातिमा, श्री प्रदीप कनौजिया, श्री प्रणव त्रिपाठी, श्री राकेश पाण्डेय, श्री शहनवाज मंगल आजमी, श्रीमती माया चैबे, कर्नल चैबे, श्री हरनाम सिंह चैहान, श्री सरोज शुक्ला, श्री नसीम खान, श्री नसीम पंडित, श्रीमती सुशीला शर्मा, श्रीमती सिद्धिश्री, श्री अयाज खान अच्छू, श्री ब्रजेश द्विवेदी, श्री मुन्ना लाल भारती, श्री आर0एस0 तिवारी, श्री नरेश बाल्मीकि, श्रीमती सीमा चैधरी, श्रीमती सुनीता रावत, श्रीमती सुशीला सोनकर, डा0 शहजाद आलम, श्री सुशील बाल्मीकि, श्रीमती ललिता शर्मा, श्री मुरली मनोहर, श्री शिवम त्रिपाठी, श्री योगेश यादव, श्री राजन यादव, श्री ज्ञान प्रकाश राय, श्री कायम रजा, श्री अन्नू सोनी, श्री आलोक सिंह रैकवार,श्री जफर मूसा, श्रीराम यादव, श्री बी0डी0 सिंह, श्री रामपाल यादव, श्री हरिओम अवस्थी, श्री ज्ञानेश शुक्ला, श्री आदित्य सिंह, श्री मुशर्रफ इमाम, श्री राम सनेही, श्री अनोखेलाल तिवारी सहित सैंकड़ों की संख्या में कांग्रेसजन शामिल रहे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।

                 ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              हर साल आठ मार्च को विश्व भर मे महिलाओं के लिये अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। लेकिन महिलाओं को लेकर इस तरह के मनाये जाने वाले अनगिनत समारोह को वास्तविकता का रुप दे दिया जाये तो निश्चित ही महिलाओं के हालात ओर अधिक बेहतरीन देखने को मिल सकते है। इसके विपरीत राजस्थान के सीकर के लाल व मुम्बई प्रवासी वाहिद चोहान ने महिलाओं का वास्तव मे सशक्तिकरण करने का बीड़ा उठाकर अपने जीवन भर का कमाया हुया सरमाया खर्च करके वो काम किया है जिसकी मिशाल दूसरी मिलना मुश्किल है।इसी काम के लिये राजस्थान सरकार ने वाहिद चोहान को महिला सशक्तिकरण अवार्ड से नवाजा है। बताते है कि इस तरह का अवार्ड पाने वाले एक मात्र पुरुष वाहिद चोहान ही है।                   करीब तीस साल पहले सीकर शहर के रहने वाले वाहिद नामक एक युवा जो बाल्यावस्था मे मुम्बई का रुख करके वहां उम्र चढने के साथ कड़ी मेहनत से भवन निर्माण के काम से अच्छा खासा धन कमाने के बाद ऐसों आराम की जिन्दगी जीने की बजाय उसने अपने आबाई शहर सीकर की बेटियों को आला तालीमयाफ्ता करके उनका जीवन खुसहाल बनाने की जीद लेक

डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन

  लखनऊ : डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के  विरोध में  एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन आदित्य चौधरी ने कहा कि   केाविड-19 महामारी के एक बार पुनः देश में पैर पसारने और उ0प्र0 में भी दस्तक तेजी से देने की खबरें लगातार चल रही हैं। आम जनता व छात्रों में कोरोना के प्रति डर पूरी तरह बना हुआ है। सरकार द्वारा तमाम उपाय किये जा रहे हैं किन्तु एकेटीयू लखनऊ का प्रशासन कोरोना महामारी को नजरअंदाज करते हुए छात्रों की आॅफ लाइन परीक्षा आयोजित कराने पर अमादा है। जिसके चलते भारी संख्या में छात्रों की जान पर आफत बनी हुई है। इन परीक्षाओं में शामिल होने के लिए देश भर से तमाम प्रदेशों के भी छात्र परीक्षा देने आयेंगे जिसमें कई राज्य ऐसे हैं जहां नये स्टेन की पुष्टि भी हो चुकी है और विभिन्न स्थानों लाॅकडाउन की स्थिति बन गयी है। ऐसे में एकेटीयू प्रशासन द्वारा आफ लाइन परीक्षा कराने का निर्णय पूरी तरह छात्रों के हितों के विरूद्ध है। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन की मांग है कि इस निर्णय को तत्काल विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा वापस लि

राजस्थान मे गहलोत सरकार के खिलाफ मुस्लिम समुदाय की बढती नाराजगी अब चरम पर पहुंचती नजर आने लगी।

                   ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।              हालांकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा शुरुआत से लेकर अबतक लगातार सरकारी स्तर पर लिये जा रहे फैसलो मे मुस्लिम समुदाय को हिस्सेदारी के नाम पर लगातार ढेंगा दिखाते आने के बावजूद कल जारी भारतीय प्रशासनिक व पुलिस सेवा के अलावा राजस्थान प्रशासनिक व पुलिस सेवा की जम्बोजेट तबादला सूची मे किसी भी स्तर के मुस्लिम अधिकारी को मेन स्टीम वाले पदो पर लगाने के बजाय तमाम बर्फ वाले माने जाने वाले पदो पर लगाने से समुदाय मे मुख्यमंत्री गहलोत व उनकी सरकार के खिलाफ शुरुआत से जारी नाराजगी बढते बढते अब चरम सीमा पर पहुंचती नजर आ रही है। फिर भी कांग्रेस नेताओं से बात करने पर उनका जवाब एक ही आ रहा है कि सामने आने वाले वाले उपचुनाव मे मतदान तो कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष मे करने के अलावा अन्य विकल्प भी समुदाय के पास नही है। तो सो प्याज व सो जुतो वाली कहावत हमेशा की तरह आगे भी कहावत समुदाय के तालूक से सही साबित होकर रहेगी। तो गहलोत फिर समुदाय की परवाह क्यो करे।               मुख्यमंत्री गहलोत के पूर्ववर्ती सरकार मे भरतपुर जिले के गोपालगढ मे मस्जिद मे नमाजियों क