असम के कामरूप जिले में 2506 लोग घरों में पृथक

रांगिया, ::  कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए निचले असम के कामरूप जिले में विभिन्न उम्र वर्गों के 2506 लोगों को घरों में पृथक रहने के लिए कहा गया है।


एक अधिकारी ने बताया कि असम में अभी तक कोविड-19 का कोई मामला सामने नहीं आया है।


स्वास्थ्य विभाग के जिला संयुक्त निदेशक डॉ. एन. एस. तिष्य के मुताबिक रांगिया प्रखंड सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र (बीपीएचसी) के दायरे में आने वाले 381 लोगाों, कमलपुर बीपीएचसी क्षेत्र में 322 और बिहदिया बीपीएचसी क्षेत्र में 122 लोगों को घरों के अंदर पृथक किया गया है।


एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि कामरूप जिले में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पांच मॉडल अस्पतालों में 159 बिस्तर तैयार रखे गए हैं जिनमें 20 बिस्तर रांगिया रेलवे पॉलीक्लीनिक में तैयार हैं।


इस बीच जिला प्रशासन ने लॉकडाउन प्रावधानाों का पूरी तरह पालन सुनिश्चित कराने के लिए सभी उपाय किए हैं।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
मुस्लिम समुदाय की नाराजगी से राजस्थान के पंचायत चुनाव मे कांग्रेस को मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है।