असम के कामरूप जिले में 2506 लोग घरों में पृथक

रांगिया, ::  कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए निचले असम के कामरूप जिले में विभिन्न उम्र वर्गों के 2506 लोगों को घरों में पृथक रहने के लिए कहा गया है।


एक अधिकारी ने बताया कि असम में अभी तक कोविड-19 का कोई मामला सामने नहीं आया है।


स्वास्थ्य विभाग के जिला संयुक्त निदेशक डॉ. एन. एस. तिष्य के मुताबिक रांगिया प्रखंड सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र (बीपीएचसी) के दायरे में आने वाले 381 लोगाों, कमलपुर बीपीएचसी क्षेत्र में 322 और बिहदिया बीपीएचसी क्षेत्र में 122 लोगों को घरों के अंदर पृथक किया गया है।


एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि कामरूप जिले में किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पांच मॉडल अस्पतालों में 159 बिस्तर तैयार रखे गए हैं जिनमें 20 बिस्तर रांगिया रेलवे पॉलीक्लीनिक में तैयार हैं।


इस बीच जिला प्रशासन ने लॉकडाउन प्रावधानाों का पूरी तरह पालन सुनिश्चित कराने के लिए सभी उपाय किए हैं।


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
किसान महापंचायतों के बहाने कांग्रेस चारो उपचुनाव को साधना चाह रही है।
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।
आसाम-बंगाल आम चुनावो के साथ राजस्थान के होने वाले चार उपचुनावो के बाद गहलोत सरकार गिराने की फिर कोशिश हो सकती है! - पायलट समर्थक प्रदेश भर मे किसान महापंचायते आयोजित करके अपना जनसमर्थन बढा रहे है।