योगी संविधान की मूल भावना के खिलाफ : अखिलेश

लखनऊ, ::  समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की 'समाजवाद नहीं रामराज्य' वाली टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि इसका मतलब है कि योगी संविधान की मूल भावना के खिलाफ हैं।


अखिलेश ने शनिवार को किये गये ट्वीट में योगी पर यह कहते हुए हमला बोला 'मुखिया जी ने कहा कि देश को समाजवाद नहीं चाहिये। इसका अर्थ हुआ कि वह संविधान की मूल भावना के खिलाफ हैं।'


उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह भी हुआ कि योगी गरीबों के बजाय अमीर पूंजीपतियों के साथ हैं, वह समाज के लिये नहीं बल्कि कुछ खास लोगों के लिये काम करते हैं और वह उपेक्षित समाज की बराबरी के उपायों के खिलाफ हैं।


मालूम हो कि गत बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा 'इस देश में रामराज्य ही चाहिये, समाजवाद नहीं चाहिये। क्योंकि जो अस्वाभाविक , अप्राकृतिक और अमानवीय है, वह चेहरा समाजवाद का देश के सामने आया है। जो सार्वभौमिक है, सार्वदेशिक है, सर्वकालिक है, कालपरिस्थितियों से परे शाश्वत है, वही रामराज्य है।' 


टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र