पांच अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य कुछ ज्यादा महत्वाकांक्षी: नीति आयोग का अधिकारी

कोलकाता, :: नीति आयोग की एक अधिकारी ने सोमवार को कहा कि 2024-25 तक भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य कुछ अधिक ही महत्वाकांक्षी लगता है। उन्होंने कहा कि यह लक्ष्य तय करने का मकसद देश के आर्थिक प्रदर्शन के मानदंडों को ऊंचा करना है।


नीति आयोग में वित्तीय समावेश पर गठित समिति की चेयरपर्सन बिंदु डालमिया ने कहा, ‘‘फिलहाल 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य एक मंशा है जो कुछ ज्यादा महत्वाकांक्षी लगता है।’’


उन्होंने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि भारत फिलहाल 5-6 प्रतिशत जीडीपी वृद्धि दर के दायरे में ‘फंसा’ है।


डालमिया ने कहा कि 2024 तक 5,000 अरब डॉलर या 2030 तक 10 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य हासिल करने के लिये देश को अगले 10 साल तक बाजार मूल्य पर सालाना 11.5 प्रतिशत की दर से तथा वास्तविक आधार पर 7.5 प्रतिशत की दर से वृद्धि हासिल करनी होगी। फिलहाल अर्थव्यवस्था का आकार 2900 अरब डॉलर है।


उन्होंने कहा, ‘‘मौजूदा स्तर से वास्तविक आधार पर करीब 8 प्रतिशत की वृद्धि दर असंभव नहीं है। लेकिन इसे हासिल करना आसान भी नहीं है।’’


टिप्पणियाँ
Popular posts
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
कायमखानी बिरादरी 14-जुन को दादा कायम खां दिवस पर प्रदेश भर मे जगह जगह रक्तदान शिविर लगा रही है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सचिन पायलट के मध्य जारी सत्ता संघर्ष तेज हो सकता है। पायलट सत्ता संघर्ष के लिये ढाल ढाल तो गहलोत पत्ते पत्ते पर घूम रहे है।
चित्र
आसमान छुती पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती किमतो के खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान मे प्रदर्शन किया।
चित्र