केजरीवाल ने शपथग्रहण से पहले कैबिनेट के साथियों के साथ रात्रिभोज किया, विकास के रोडमैप पर चर्चा की


नयी दिल्ली, :: तीसरी बार दिल्ली का मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने से एक दिन पहले ‘आप’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरवाल ने अपने संभावित कैबिनेट सहयोगियों के साथ रात्रिभोज किया और राष्ट्रीय राजधानी के विकास के ‘‘रोडमैप’’ पर चर्चा की। चर्चा में आगामी तीन महीनों के दौरान उठाए जाने वाले कदमों को प्राथमिकता दी गई।


आप के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने पत्रकारों को बताया कि केजरीवाल ने मंत्रिपद की शपथ लेने जा रहे अपने सभी साथियों से 'गारंटी कार्ड' में शामिल वादों को प्रतिबद्धता के साथ पूरा करने के लिये कहा।


उन्होंने कहा, 'हमें शपथ लेते ही गारंटी कार्ड में किये गए अपने वादों को पूरा करने की दिशा में काम शुरू करने के लिये कहा गया है।'


केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले 'केजरीवाल की 10 गारंटियां' नामक कार्ड जारी किया था।


कार्ड में केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों को कुछ गारंटी दी, जिसमें दो करोड़ पौधे लगाने, यमुना नदी को साफ करने और अगले पांच वर्षों में दिल्ली में प्रदूषण को कम करने की योजना शामिल है।


केजरीवाल ने रात्रिभोज कार्यक्रम के बारे में ट्वीट भी किया।


उन्होंने लिखा, 'दिल्ली मंत्रिमंडल के नामित साथियों के लिये अपने आवास पर रात्रिभोज आयोजित किया। चुनाव में उनकी जीत पर उन्हें बधाई दी और दिल्ली सरकार में मंत्री के रूप में उनके कार्यकाल की सफलता की कामना की।'


केजरीवाल रविवार सुबह 10 बजे अपने मंत्रिमंडल सहयोगियों के साथ शपथ ग्रहण करेंगे। उनके साथ छह मंत्री भी शपथ लेंगे । इनमें मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र गौतम शामिल हैं।


आप ने 70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा में 62 सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि भाजपा ने आठ सीटें जीतीं। कांग्रेस लगातार दूसरी बार खाता खोलने में नाकाम रही।


टिप्पणियां
Popular posts
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।
राजस्थान वक्फ बोर्ड का आठ मार्च को कार्यकाल पूरा होने को है, लेकिन सदस्यों के लिये चुनावी प्रक्रिया अभी शुरु नही हुई। - नये चुनाव के लिये सरकारी स्तर पर हलचल पर प्रशासक लगने के चांसेज अधिक बताये जा रहे है।
इमेज