इक्कीसवीं सदी की चुनौतियों से निपटने के लिए यूएनएससी में सुधार बेहद आवश्यक: भारत

संयुक्त राष्ट्र,  :: भारत ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र जैसी बहुपक्षीय संस्थाओं को अपनी विश्वसनीयता कायम रखने के लिए आमूलचूल परिवर्तन करने की जरूरत है और 21वीं सदी की चुनौतियों का सामना करने तथा अवसरों का लाभ उठाने के लिए सुरक्षा परिषद में सुधारों पर ठोस प्रगति आवश्यक है।


संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगांठ मनाने के लिए अधिघोषणा पर अनौपचारिक विमर्श के कार्यक्रम में संयुक्त राष्ट्र में भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि राजदूत के. नागराज नायडू ने कहा कि जब दुनिया लगातार जटिल चुनौतियों का सामना कर रही है ऐसे में हमें ‘‘बहुपक्षवाद के प्रति अपने सामूहिक संकल्प को पुन: पुष्ट करने की आवश्यकता है।’’


संरा इस वर्ष अपनी 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। भारत लंबे समय से लंबित सुधार प्रक्रिया तेज करने की मांग कर रहा है। भारत का कहना है कि यह ऐतिहासिक वर्ष एक अवसर देता है जब हम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधारों के बारे में निर्णयात्मक कदम उठा सकते हैं।


भारत के अलावा ब्राजील, जर्मनी और जापान भी लंबे समय से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार की मांग कर रहे हैं। ये देश परिषद की स्थायी सदस्यता की मांग कर रहे हैं।


टिप्पणियाँ
Popular posts
एसीबी सीकर चौकी ने लगातार दुसरे दिन कार्यवाही करके रिश्वत लेते दो भ्रष्टाचारी को अलग अलग मामलों मे रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
चित्र
राजस्थान कांग्रेस मे हालात विस्फोटक स्थिति मे पहुंचते नजर आ रहे है।। - गहलोत-पायलट खेमे के मध्य जारी टकराव व एक दुसरे पर दवाब बनाने के चक्कर मे सरकार गिर भी सकती है
चित्र
कोरोना अवेयरनेस कैंप के साथ शिफा होमियोपैथी क्लिनिक की इब्तिदा
चित्र
राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कुदे। जारी राजनीतिक घमासान के बीच चोधरी ने कहा कांग्रेस को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को सरकार में मिले जगह।
चित्र
राजस्थान मे तीसरा मजबूत विकल्प अगले आम चुनाव से पहले उभर सकता है। - मुख्यमंत्री गहलोत द्वारा सेवानिवृत्त ब्यूरोक्रेट्स को लाभ के पदो पर लगातार नियुक्ति देने का सीलसीला बनाये रखने से इंतजार मे बैठे जनप्रतिनिधियों का सब्र जवाब देने लगा।
चित्र