गैंगस्टर रवि पुजारी द अफ्रीका में गिरफ्तार

बेंगलुरु, :: फरार गैंगस्टर रवि पुजारी को दक्षिण अफ्रीका में गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे अधिकारियों की एक टीम भारत ला रही है। इस टीम में कर्नाटक के एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी भी शामिल हैं।


एक शीर्ष अधिकारी ने रविवार को बताया कि पुजारी कर्नाटक समेत देश के अलग अलग हिस्सों में दर्ज उगाही और हत्या सहित कई मामलों में वांछित था। वह 15 साल से फरार चल रहा था।गिरफ्तारी के बाद पुजारी को पश्चिम अफ्रीका में सेनेगल निर्वासित कर दिया गया था और बाद में उसे प्रत्यर्पित कर दिया गया था।


पिछले साल सेनेगल में उसे जमानत मिल गई थी और वह फरार हो गया था।


पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “ (हम) सेनेगल से उसके साथ आ रहे हैं। अभी पेरिस में हैं। (हम) एयर फ्रांस की उड़ान से आ रहे हैं और आधी रात तक वहां (भारत) पहुंच जाएंगे।”


यह अधिकारी टीम का हिस्सा हैं।


पुलिस सूत्रों ने बताया कि कर्नाटक से ताल्लुक रखने वाले पुजारी को सोमवार सुबह तक यहां लाया जा सकता है।


सूत्रों ने बताया कि जांच में राष्ट्रीय जांच एजेंसी, केंद्रीय अन्वेषण ब्योरो और रिसर्च एंड एनालिसिस विंग शामिल होगी।


पुलिस के मुताबिक, गैंगस्टर पर 200 से ज्यादा मामले हैं। उसे पिछले साल जनवरी में सेनेगल के अधिकारियों ने गिरफ्तार किया था।


भारतीय अधिकारियों की उसे प्रत्यर्पित करके यहां लाने की कोशिशों के बावजूद एक स्थानीय अदालत ने उसे जमानत दे दी थी जिसके बाद पुजारी दक्षिण अफ्रीका भाग गया था।


पुलिस सूत्रों ने रविवार को बताया कि गैंगस्टर को दक्षिण अफ्रीका और सेनेगल पुलिस के संयुक्त अभियान के दौरान एक गांव से गिरफ्तार किया गया था।


उन्होंने बताया कि उसे सेनेगल ले जाया गया और भारतीय टीम ने प्रत्यर्पण की औपचारिकताएं पूरी कीं।


पुजारी शुरू में गैंगस्टर छोटा राजन से जुड़ा हुआ था, लेकिन उसने फरार अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम के लिए भी काम किया है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
कायमखानी बिरादरी 14-जुन को दादा कायम खां दिवस पर प्रदेश भर मे जगह जगह रक्तदान शिविर लगा रही है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सचिन पायलट के मध्य जारी सत्ता संघर्ष तेज हो सकता है। पायलट सत्ता संघर्ष के लिये ढाल ढाल तो गहलोत पत्ते पत्ते पर घूम रहे है।
चित्र
आसमान छुती पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती किमतो के खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान मे प्रदर्शन किया।
चित्र