दिल्ली हिंसा: अब तक 11 प्राथमिकी दर्ज

नयी दिल्ली, :: दिल्ली पुलिस ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के दौरान 11 लोगों की मौत के संबंध में मंगलवार को 11 प्राथमिकी दर्ज की है।


दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता मंदीप सिंह रंधावा ने कहा कि उत्तरपूर्वी दिल्ली में स्थिति नियंत्रण में है।


हालांकि कुछ हिस्सों से हिंसा की खबरें आ रही हैं। अब तक 20 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया है और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।


हिंसा का शिकार हुए 11 लोगों में दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल रतन लाल भी शामिल हैं।


सूत्रों ने बताया कि उन्हें बाएं कंधे में गोली लगी थी।


रंधावा ने कहा कि हिंसा के संबंध में 11 प्राथमिकी दर्ज हुई है। उनसे भाजपा नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई के संबंध में भी सवाल पूछा गया।


उन्होंने प्रश्न के जवाब में कहा, ‘‘ सभी चीजें जांच के दायरे में है। हम जांच करेंगे और षडयंत्रकारियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।’’


सूत्रों ने बताया कि बंदूक लेकर खुले आम घूमने वाले और कई राउंड गोली चलाने वाले शाहरुख को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।


उन्होंने कहा, ‘‘ हम इधर-उधर हो रही हिंसा पर कार्रवाई कर रहे हैं। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। आरएफ, एसएसबी और सीआरपीएफ को तैनात किया गया है।’’


अधिकारी ने बताया, ‘‘ गृह मंत्रालय ने हमें अतिरिक्त बल दिया है और हम तैनात कर रहे हैं।’’


पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस और अर्धसैनिक बलों की 67 कंपनियां क्षेत्र में तैनात की गई हैं।


उन्होंने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी इलाके में हैं और स्थिति पर करीबी निगरानी के लिए अपराध शाखा और अन्य ईकाइयां भी काम कर रही हैं।


अधिकारी ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारी स्थिति पर करीब नजर रख रहे हैं।


रंधावा ने बताया कि सोमवार से ही पुलिस के पास हिंसा के संबंध में फोन आने शुरू हो चुके थे।


उन्होंने कहा ,‘‘ हमें गोकलपुरी, मौजपुर, भजनपुरा, करावल नगर से इस तरह की हिंसा के संबंध में फोन आए और हमने बल तैनात किए।’’


अधिकारी ने कहा, ‘‘ हमने महत्वपूर्ण स्थानों पर बल तैनात किए। प्रदर्शनकारियों के बीच में झड़प के बाद स्थिति पर नियंत्रण के लिए बल भेजे थे।’’


रंधावा ने बताया कि दो आईपीएस अधिकारियों समेत 56 पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं।


डीसीपी (शाहदरा) अमित शर्मा को सिर में चोट आई है और वह स्वास्थ्य निगरानी में हैं।


उन्होंने बताया कि 130 नागरिक जख्मी हुए हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है।


उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने और किसी भी अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील की है।


रंधावा ने कहा, ‘‘ निषेधाज्ञा लागू होने के बाद भी घटनाएं सामने आईं और हमने कार्रवाई की। हम घटनाओं से निपट रहे हैं और कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं। सभी असमाजिक तत्वों से कड़ाई से निपटा जाएगा।’’


स्थिति पर नजर रखने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है और बालकनी से पत्थरबाजी करने वालों की पहचान सीसीटीवी से हो रही है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
कायमखानी बिरादरी 14-जुन को दादा कायम खां दिवस पर प्रदेश भर मे जगह जगह रक्तदान शिविर लगा रही है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सचिन पायलट के मध्य जारी सत्ता संघर्ष तेज हो सकता है। पायलट सत्ता संघर्ष के लिये ढाल ढाल तो गहलोत पत्ते पत्ते पर घूम रहे है।
चित्र
आसमान छुती पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती किमतो के खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान मे प्रदर्शन किया।
चित्र