सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

 दमोह : विधायक रामबाई ने भ्रष्ठ अधिकारियों को रिश्वतखोरी न करने की हाँथ में गंगाजल लेकर दिलाई शपथ



मध्यप्रदेश : दमोह के पथरिया की तेज तर्रार विधायक रामबाई परिहार ने पथरिया नगर परिषद में जमकर हुई भ्र्ष्टाचार का  खुलासा करके इलाके के लोगों में अपना नया विश्वास कायम कर लिया । मामला दमोह जिले के पथरिया विधानसभा का है ।जहाँ नगरपालिका परिषद में लगे  दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को नियमित करने के ऐवज में बड़ा भ्रष्टाचार कर अधिकारियों ने मिली भगत से  किसी कार्यमचारी से 30  हज़ार तो किसी से 15 हज़ार की रिश्वत ली थी  जब कार्यमचारी नियमित नही हुए तो मामला विधायक रामबाई के सामने आया फिर क्या जो हुआ सो तमाशा सबने देखा ।


जिसने भी पथरिया के नगरपरिषद के समस्या निवारण शिविर मेंदेखा देखता ही रह गया जो किसी फिल्मी दृश्य से कम नही था ।असल जिंदगी के पर्दे की नायिका पथरिया विधायक रामबाई सिह परिहार जो अपने दबंग अंदाज़ के लिए जानी जाती है । विधायक के इलाके में दूरदूर तक कोई भी सरकारी मुलाज़िम या अधिकारी भ्र्ष्टाचार नही कर सकता  अगर किसी ने भूल से भी रिश्वत ले ली समझो उसको भरी सभा मे ज़लील होना ही पड़ेगा और हुआ भी यही दरअसल दो दिन पहले पथरिया नगर परिषद में जन समस्या निवारण कार्यक्रम आयोजित हुआ था जहाँ विधायक रामबाई परिहार पहुच गई लोगों ने विधायक से पथरिया नगर परिषद  में हुए भ्र्ष्टाचार और रिश्वत लेकर नियमित करने की बात कही जिसमें  उपस्थित कर्मचारियों ने साफ बताया गया नगर परिषद के कर्मचारियों द्वारा पीएचई विभाग के 14कर्मचारियों से 30-30 हज़ार रुपये एवम 9 सफाई कर्मचारियों से किसी से 30 हज़ार तो किसी से 15 हज़ार ले लिए गए थे नियमितीकरण कराने के नाम पर उसके बाद भी किसी को नियमित नहीं किया गया ।



आक्रोशित कर्मचारियों ने पथरिया विधायक से इस बात की शिकायत की  जब रामबाई को जानकारी लगी तो पहले तो भरी सभा मे मंच से ही विधायक ने भ्रष्ट अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई और दो दिन में पैसे वापस देने अल्टीमेटम दे दिया जिसे सबने देखा । दो दिन बाद पथरिया विधायक द्वारा नियमितीकरण की एवज में लिए गए कुल 5 लाख 90 हज़ार कर्मचारियों को वापस दिलाए इतना ही नही  भरी परिषद की बैठक में भ्रष्ट  अधिकारियों को आगे से ऐसी गलती ना दोहराने की हिदायत के साथ साथ पानी का गिलास हाँथ में लेकर गंगाजल समझकर अधिकारियों को शपथ दिला दी ।इसके अलावा  पीएचई विभाग के दरोगा कलीम खान को पद से हटाकर गिरधारी पटेल को पीएचई विभाग का जिम्मेदार बना दिया गया। विधायक रामबाई भले ही पथरिया विधानसभा से ताल्लुक रखतीं हो लेकिन दमोह जिले की चारों विधानसभा क्षेत्र की जनता का भरोसा बनकर उभरी है इस बात को हर कोई भली भाँति जानता है और मानता है ।


विधायक रामबाई यहीं नही रुकीं उन्होंने कहा  की प्रधानमंत्री आवास योजना में मेरे नाम को बदनाम किया जा रहा है लेकिन नगर परिषद द्वारा अपात्र लोगों को प्रधानमंत्री योजना का भरपूर लाभ दिया गया जबकि गरीब तबके के लोग आज भी आवास के लिए  भटक रहे हैं । और दूसरी तरफ दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों ने  30-30 हजार रुपए लिए ,कई कर्मचारी पैसे दे चुके हैं उसके बाद भी अभी तक परमानेंट नहीं किया गया। और आज तक उन पैसों का अता पता नहीं  जिन लोगों ने पैसे लिए थे विधायक ने उनको मंच पर बुलाया भरी सभा मे और  पैसों को 2 दिन की मोहलत देते हुए वापस करने का बोला  था फिर क्या दो दिन बीत जाने के बाद  विधायक ने संज्ञान में लेते हुए  संबंधित व्यक्तियों से तत्काल कर्मचारियों के रुपए लौटाने का आदेश दिया था जिसपर  नगर पालिका परिषद पथरिया के कर्मचारियों से ली गई राशि विधायक की उपस्थिति में वापस की गई और  अपने अपराध की क्षमा याचना करते हुए  हाथ मे  गंगाजल  लेकर सभी के सामने शपथ दिलाई की आगे से ऐसा नही करेगें । प्रत्येक कर्मचारियों से बात करते हुए सभी की राशि वापस कराई गई। जनता जब हर तरह से परेशान होती है तो सीधे रामबाई की शरण मे पहुच जाती है और फिर मिलता है उसे न्याय इसलिए को कहते है इलाका किसी का भी हो सिक्का तो रामबाई का ही चलेगा ।



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह

पत्रकारिता क्षेत्र मे सीकर के युवा पत्रकारों का दैनिक भास्कर मे बढता दबदबा। - दैनिक भास्कर के राजस्थान प्रमुख सहित अनेक स्थानीय सम्पादक सीकर से तालूक रखते है।

                                         सीकर। ।अशफाक कायमखानी।  भारत मे स्वच्छ व निष्पक्ष पत्रकारिता जगत मे लक्ष्मनगढ निवासी द्वारा अच्छा नाम कमाने वाले हाल दिल्ली निवासी अनिल चमड़िया सहित कुछ ऐसे पत्रकार क्षेत्र से रहे व है। जिनकी पत्रकारिता को सलाम किया जा सकता है। लेकिन पिछले कुछ दिनो मे सीकर के तीन युवा पत्रकारों ने भास्कर समुह मे काम करते हुये जो अपने क्षेत्र मे ऊंचाई पाई है।उस ऊंचाई ने सीकर का नाम ऊंचा कर दिया है।         इंदौर से प्रकाशित  दैनिक भास्कर के प्रमुख संस्करण के सम्पादक रहने के अलावा जयपुर सीटी भास्कर व शिमला मे भास्कर के सम्पादक रहे सीकर शहर निवासी मुकेश माथुर आजकल दैनिक भास्कर के जयपुर मे राजस्थान प्रमुख है।                 दैनिक भास्कर के सीकर दफ्तर मे पत्रकारिता करते हुये उनकी स्वच्छ व निष्पक्ष पत्रकारिता का लोहा मानते हुये जिले के सुरेंद्र चोधरी को भास्कर प्रबंधक ने उन्हें भीलवाड़ा संस्करण का सम्पादक बनाया था। जिन्होंने भीलवाड़ा जाकर पत्रकारिता को काफी बुलंदी पर पहुंचाया है।                 फतेहपुर तहसील के गावं से निकल कर सीकर शहर मे रहकर सुरेंद्र चोधरी के पत्रका