भारत..अमेरिका साझेदारी पर ट्रंप मोदी के बीच व्यापक वार्ता होगी

नयी दिल्ली, :: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मंगलवार को व्यापक बातचीत होगी और इस दौरान दोनों नेताओं का उद्देश्य भारत..अमेरिका वैश्विक साझेदारी को विस्तार देना होगा। दोनों नेताओं ने सोमवार को एकदूसरे की प्रशंसा की और दोनों लोकतांत्रिक देशों के लोगों के लिए एक बेहतर भविष्य के प्रति प्रतिबद्धता जतायी।


अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में आयोजित ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति ने घोषणा की कि तीन अरब डॉलर कीमत के अत्याधुनिक सैन्य हेलीकाप्टर और अन्य उपकरणों के लिए मंगलवार को समझौते किये जाएंगे।


ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप, पुत्री इवांका, दामाद जारेड कुश्नर और उनके प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी आये हुए हैं। ट्रंप करीब 36 घंटे की भारत यात्रा के लिए सोमवार दोपहर में अहमदाबाद पहुंचे।


ट्रंप के सम्मान में विश्व के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम ‘मोटेरा स्टेडियम’ में ‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम में जब ट्रंप को संबोधन के लिए बुलाया तो हजारों लोगों की भीड़ ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया।


ट्रंप ने कहा, ‘‘हम आपसे प्यार करते हैं। भारत हम आपको बहुत प्यार करते हैं।’’ ट्रंप ने अपने 27 मिनट के भाषण में मोदी की प्रशंसा की और विविध क्षेत्रों में भारत की उपलब्धियों की चर्चा की।


उन्होंने दोनों देशों के बीच रक्षा और रणनीतिक संबंधों के बारे में कहा कि अमेरिका भारत को दुनिया के कुछ सर्वश्रेष्ठ और कुछ शानदार सैन्य उपकरण उपलब्ध कराने को लेकर उत्सुक है।


ट्रंप ने कहा, ‘‘हम अब तक के कुछ महान उपकरण बनाते हैं: विमान, मिसाइलें, रॉकेट, पोत। हम सर्वश्रेष्ठ बनाते हैं। हम अब भारत के साथ सौदा कर रहे हैं। यद्यपि इसमें उन्नत वायु रक्षा प्रणाली और सशस्त्र और बिना शस्त्र वाले एरियल व्हीकल शामिल हैं।’’


ट्रंप द्वारा उल्लेखित सौदे में भारत द्वारा अमेरिका से 24 एमएच..60 रोमियो हेलीकाप्टर की 2.6 अरब अमेरिकी डालर में खरीद शामिल है। इसके अलावा एक अन्य सौदा छह एएच..64 ई अपाचे हेलीकाप्टर को लेकर है जो अमेरिका से 80 करोड़ डालर का होगा।


ट्रंप ने कहा, ‘‘मुझे यह घोषणा करते हुए प्रसन्नता हो रही है कि हमारे प्रतिनिधि कल तीन अरब अमेरिकी डालर कीमत के सौदों पर हस्ताक्षर करेंगे जो भारतीय सैन्य बलों के लिए सबसे अच्छा, अत्याधुनिक सैन्य हेलीकॉप्टर और अन्य उपकरण का होगा।’’


मोदी और ट्रंप के बीच मंगलवार को होने वाली यह वार्ता इस क्षेत्र और इससे इतर भू राजनीतिक घटनाक्रमों को लेकर भारत और अमेरिका के बीच हितों की बढ़ती एकरूपता का स्पष्ट संदेश देगी, खासतौर पर तब जब चीन अपने सैन्य और आर्थिक दायरे को बढ़ा रहा है।


हालांकि इस वार्ता से व्यापार शुल्क जैसे मुद्दों के हल के वास्ते परिणाम उत्पन्न होने की संभावना नहीं है।


भारतीय और अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार ट्रंप और मोदी के बीच होने वाली वार्ता में दोनों नेताओं द्वारा विभिन्न द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किये जाने की उम्मीद है। इनमें व्यापार और निवेश, रक्षा एवं प्रतिरक्षा, धार्मिक स्वतंत्रता, अफगानिस्तान में तालिबान के साथ प्रस्तावित शांति समझौता तथा हिंद प्रशांत क्षेत्र में स्थिति, शामिल होने की उम्मीद है।


गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि ट्रंप की यात्रा के दौरान बौद्धिक सम्पदा अधिकार के क्षेत्रों में सहयोग, व्यापार सुगमता और गृह सुरक्षा से संबंधित पांच समझौतों को अंतिम रूप दिये जाने की उम्मीद है।


ट्रंप ने आर्थिक संबंधों के बारे में कहा, ‘‘मेरी इस यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी और मैं हमारे दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंध विस्तारित करने के हमारे प्रयासों पर भी चर्चा करेंगे।’’


मोटेरा स्टेडियम में कार्यक्रम में ट्रंप ने कहा, ‘‘हम बड़े व्यापार सौदों में से एक करेंगे। हम अमेरिका और भारत के बीच निवेश की बाधाओं को कम करने के लिए एक अविश्वसनीय व्यापार समझौते के लिए चर्चा के शुरुआती चरण में हैं।’’


ट्रंप ने कहा, ‘‘मैं इसको लेकर आशावादी हूं कि एकसाथ काम करते हुए प्रधानमंत्री मोदी और मैं अपने दोनों देशों के लिए शानदार और बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते हैं।’’


कुमार ने पिछले सप्ताह कहा था कि भारत ‘‘कृत्रिम समयसीमा’’ नहीं बनाना चाहता है। अमेरिका भारत के विशाल कुक्कुट और डेयरी बाजारों तक अधिक पहुंच की मांग कर रहा है। हालाँकि, भारत की इस पर कुछ आपत्तियां हैं।


ट्रंप ने अपने संबोधन में कहा कि मोदी भारतीय गणराज्य के एक अत्यंत सफल नेता हैं।


ट्रंप ने कहा, ‘‘पिछले साल, 60 करोड़ से अधिक लोगों ने चुनावों में मतदान किया और उन्हें चुनाव में शानदार जीत दिलायी।’’


मोदी ने अपने भाषण में ट्रंप की भी तारीफ की।


अहमदाबाद से, अमेरिकी राष्ट्रपति ताजमहल के दीदार के लिए आगरा रवाना हुए। ट्रंप परिवार ने सूर्यास्त से पहले ताजमहल में लगभग एक घंटा बिताया। वे आगरा से शाम लगभग 7:30 बजे दिल्ली पहुंचे।


25 फरवरी की सुबह ट्रंप और मेलानिया ट्रंप का राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक औपचारिक स्वागत किया जाएगा। वहां से वे महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए उनकी ‘समाधि’ राजघाट जाएंगे।


इसके बाद हैदराबाद हाउस में ट्रंप और मोदी के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता होगी।


प्रधानमंत्री मोदी वार्ता के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति के लिए दोपहर का भोज देंगे।


दोपहर में, ट्रंप के अमेरिकी दूतावास में कुछ निजी कार्यक्रमों में शामिल होने की उम्मीद है। इसमें उद्योग प्रतिनिधियों के साथ एक गोलमेज सम्मेलन भी शामिल हो सकता है।


शाम में ट्रंप राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेंगे।


कोविंद द्वारा रात्रिभोज दिया जाएगा। ट्रंप मंगलवार को बाद में भारत से प्रस्थान करेंगे। 


टिप्पणियाँ
Popular posts
धोद विधायक परशराम मोरदिया मंत्रीमंडल विस्तार मे मंत्री बनाये जा सकते है।
चित्र
शेखावाटी जनपद के तीनो जिलो के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों की सक्रियता व विभाग की उदारता के चलते जनपद के अनेक प्रोजेक्ट के लिये अल्पसंख्यक मंत्रालय ने राशि स्वीकृत की।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व सचिन पायलट के मध्य जारी सत्ता संघर्ष तेज हो सकता है। पायलट सत्ता संघर्ष के लिये ढाल ढाल तो गहलोत पत्ते पत्ते पर घूम रहे है।
चित्र
आसमान छुती पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती किमतो के खिलाफ कांग्रेस ने राजस्थान मे प्रदर्शन किया।
चित्र
सीकर सीमा क्षेत्र में धारा 144 लागू शुक्रवार सायं 5 बजे से सोमवार प्रातः 5 बजे तक जन अनुशासन वीकेड कर्फ्यू रहेगा लॉकडाउन के दौरान (अनुमत श्रेणी के अलावा) किसी भी स्थान पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों का एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा