सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बच्चों को शिक्षा के प्रति संवेदनशील करना होगा, जिससे वह स्वयं शिक्षण के प्रति आकृष्ट हों-डा0 हृृषिकेश सेनापति

लखनऊ, :: प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा श्रीमती आराधना शुक्ला ने आज यहां साक्षारता निकेतन कृष्णा नगर, कानपुर रोड, लखनऊ में माध्यमिक शिक्षा की गुणवत्ता के संवर्द्धन हेतु विज्ञान विषय में 05 दिवसीय सन्दर्भदाता शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद््घाटन किया।  
प्रमुख सचिव, माध्यमिक शिक्षा श्रीमती आराधना शुक्ला ने इस अवसर पर अपने छात्र जीवन का अनुभव साझा करते हुए एन0सी0ई0आर0टी0 पाठ्यक्रम की गुणवत्ता के सम्बन्ध में उपस्थित प्रशिक्षणार्थियों को अवगत कराया। उन्होंने उपस्थित प्रशिक्षणार्थियो से छात्रों की बेस लाइन तैयार कर छात्रों को गुणवत्ता परक शिक्षा उपलब्ध कराने पर बल दिया। उन्होंने कहा  कि एन0सी0ई0आर0टी0 द्वारा विकसित पाठ््यक्रम एवं पुस्तकों की महत्ता को पहचानना चाहिए तथा इस प्रकार से बच्चों को शिक्षण दिया जाए कि बच्चों को पाठ्््यक्रम को समझने में किसी प्रकार की कोई हिचक न हो। उन्होंने यह भी कि प्रशिक्षण सेवा का अनिवार्य अंग है। उन्होंने आगामी सत्र से शिक्षकों के नियमित प्रशिक्षण के लिए कार्ययोजना विकसित करने के लिए कहा। उन्होंने यह भी कहा कि राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में स्मार्ट क्लास विकसित करने के सम्बन्ध में विचार किया जा रहा है। उन्होंने एन0सी0ई0आर0टी0 के निदेशक से अनुरोध किया कि वे एक रिपोर्ट विकसित करें कि अभिभावकों के अनुसार एक आदर्श विद्यालय में क्या-क्या विशेषताएं होनी चाहिए। 
डा0 हृृषिकेश सेनापति, निदेशक, एन0सी0ई0आर0टी0, नई दिल्ली ने इस अवसर पर कहा कि गतिविधि आधारित शिक्षण को ध्यान में रखते हुए एन0सी0ई0आर0टी0 का पाठ्यक्रम तैयार किया गया है ताकि बच्चों के मन में व्याप्त डर को दूर कर उनके व्यक्तित्व विकास के साथ-साथ कौशल का विकास भी हो सके। उन्होंने प्रशिक्षणार्थी शिक्षकों से छात्रों के शिक्षण का स्तर ऊंचा करने के लिए आह््वान किया। उन्होंने यह भी कहा कि बच्चों को शिक्षा के प्रति संवेदनशील करना होगा, जिससे वह स्वयं शिक्षण के प्रति आकृष्ट हों। उन्होंने सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी के महत्व पर बल दिया तथा आह््वान किया कि शिक्षा के क्षेत्र में इसका उपयोग अधिक से अधिक किया जाना चाहिए।
माध्यमिक शिक्षा विभाग, उ0प्र0 द्वारा साक्षरता निकेतन, कानपुर रोड, लखनऊ में आयोजित 05 दिवसीय (दिनांक 10 से 14 फरवरी, 2020 तक)  प्रशिक्षण कार्यक्रम में पूरे प्रदेश से राजकीय माध्यमिक विद्यालयों के विज्ञान विषय के लगभग 140 शिक्षक मास्टर ट्रेनर के रूप में आवासीय प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं तथा इन्हें एन0सी0ई0आर0टी0, नई दिल्ली के 10 कुशल प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 
प्रदेश सरकार द्वारा माध्यमिक शिक्षा की गुणवत्ता के संवर्द्धन तथा विभिन्न प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रतिस्पर्धा के दृष्टिगत माध्यमिक शिक्षा में एन0सी0ई0आर0टी0 पाठ्यक्रम लागू किया गया है। नवीन पाठ्यक्रम के अनुरूप षिक्षकों की दक्षता संवर्द्धन हेतु प्रशिक्षण दिया जाना आवश्यक हो गया है।
माध्यमिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों की शैक्षिक गुणवत्ता सम्वर्द्धन हेतु यह निर्णय लिया गया है कि प्रत्येक विषय के षिक्षक को एन0सी0ई0आर0टी0 पाठ्यक्रम के अनुसार प्रशिक्षित किया जाय।  प्रथम चरण में प्रत्येक जनपद से दो-दो विज्ञान अध्यापकों को संदर्भदाता के रूप में प्रशिक्षित किये जाने हेतु साक्षरता निकेतन, कानपुर रोड, लखनऊ में दिनांक 10 फरवरी, 2020 से 14 फरवरी 2020 तक एन0सी0ई0आर0टी0, नई दिल्ली के विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण दिया जायेगा, जिससे प्रदेश के माध्यमिक विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के सामान्य जीवन में विज्ञान विषय के प्रति अभिरूचि उत्पन्न होगी तथा छात्रों में प्रतिस्पर्धा कौशल भी बढ़ेगा। एन0सी0ई0आर0टी0, नई दिल्ली द्वारा निःशुल्क प्रषिक्षण हेतु सहमति प्रदान की गई है। 
प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षित सन्दर्भदाता अपने जनपद के शिक्षकों को प्रशिक्षण देंगे। एन0सी0ई0आर0टी0 द्वारा तैयार प्रशिक्षण माड्यूल प्रत्येक प्रशिक्षणार्थी को उपलब्ध कराया जायेगा। विज्ञान को रोचक ढंग से पढ़ाया जा सके, इस हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान “आओ करके सीखे” की क्रिया विधि को भी अपनाया जाएगा। इससे शैक्षिक गुणवत्ता में अभिवृद्धि होगी, जिसका प्रत्यक्ष लाभ छात्र-छात्राओं को होगा।  
प्रशिक्षण कार्यक्रम में शिक्षा निदेशक (माध्यमिक) श्री विनय कुमार पाण्डेय, प्रो0 रंजना अरोड़ा, संयोजक, एन0सी0ई0आर0टी0, श्रीमती मधु जोशी, निदेशक, साक्षरता निकेतन सहित माध्यमिक शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारी एवं शिक्षक उपस्थित थे। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वक्फबोर्ड चैयरमैन डा.खानू की कोशिशों से अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये जमीन आवंटन का आदेश जारी।

         ।अशफाक कायमखानी। चूरु।राजस्थान।              राज्य सरकार द्वारा चूरु शहर स्थित अल्पसंख्यक छात्रावास के लिये बजट आवंटित होने के बावजूद जमीन नही होने के कारण निर्माण का मामला काफी दिनो से अटके रहने के बाद डा.खानू खान की कोशिशों से जमीन आवंटन का आदेश जारी होने से चारो तरफ खुशी का आलम देखा जा रहा है।            स्थानीय नगरपरिषद ने जमीन आवंटन का प्रस्ताव बनाकर राज्य सरकार को भेजकर जमीन आवंटन करने का अनुरोध किया था। लेकिन राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही मे देरी होने पर स्थानीय लोगो ने धरने प्रदर्शन किया था। उक्त लोगो ने वक्फ बोर्ड चैयरमैन डा.खानू खान से परिषद के प्रस्ताव को मंजूर करवा कर आदेश जारी करने का अनुरोध किया था। डा.खानू खान ने तत्परता दिखाते हुये भागदौड़ करके सरकार से जमीन आवंटन का आदेश आज जारी करवाने पर क्षेत्रवासी उनका आभार व्यक्त कर रहे है।  

नूआ का मुस्लिम परिवार जिसमे एक दर्जन से अधिक अधिकारी बने। तो झाड़ोद का दूसरा परिवार जिसमे अधिकारियों की लम्बी कतार

              ।अशफाक कायमखानी। जयपुर।             राजस्थान मे खासतौर पर देहाती परिवेश मे रहकर फौज-पुलिस व अन्य सेवाओं मे रहने के अलावा खेती पर निर्भर मुस्लिम समुदाय की कायमखानी बिरादरी के झूंझुनू जिले के नूआ व नागौर जिले के झाड़ोद गावं के दो परिवारों मे बडी तादाद मे अधिकारी देकर वतन की खिदमत अंजाम दे रहे है।            नूआ गावं के मरहूम लियाकत अली व झाड़ोद के जस्टिस भंवरु खा के परिवार को लम्बे अर्शे से अधिकारियो की खान के तौर पर प्रदेश मे पहचाना जाता है। जस्टिस भंवरु खा स्वयं राजस्थान के निवासी के तौर पर पहले न्यायीक सेवा मे चयनित होने वाले मुस्लिम थे। जो बाद मे राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस पद से सेवानिवृत्त हुये। उनके दादा कप्तान महमदू खा रियासत काल मे केप्टन व पीता बक्सू खां पुलिस के आला अधिकारी से सेवानिवृत्त हुये। भंवरु के चाचा पुलिस अधिकारी सहित विभिन्न विभागों मे अधिकारी रहे। इनके भाई बहादुर खा व बख्तावर खान राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी रहे है। जस्टिस भंवरु के पुत्र इकबाल खान व पूत्र वधु रश्मि वर्तमान मे भारतीय प्रशासनिक सेवा के IAS अधिकारी है।              इसी तरह नूआ गावं के मरह

लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

       लखनऊ - लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वाले लोगों की हुई पहचान। चार लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार। 9 में से 4 लोग को पुलिस ने किया गिरफ्तार। सीसीटीवी और सर्विलांस के जरिए उन तक पहुंची पुलिस। नमाज अदा करने वालों में मोहम्मद रेहान पुत्र मोहम्मद रिजवान निवासी खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर , लखनऊ। दूसरा आतिफ खान पुत्र मोहम्मद मतीन खान थाना मोहम्मदी जिला लखीमपुर मौजूदा पता खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। तीसरा मोहम्मद लुकमान पुत्र मनसूर अली मूल पता लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। मोहम्मद नोमान निवासी लहरपुर सीतापुर हाल पता अबरार नगर खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर लखनऊ। पकड़े गए चार लड़कों में सीतापुर के रहने वाले दोनों सगे भाई निकले। लखनऊ में एक ही मोहल्ले में रहने वाले चारों लड़कों ने  पढ़ी थी लुलु मॉल में एक साथ जाकर नमाज।    अबरार नगर, खुर्रम नगर थाना इंदिरा नगर के रहने वाले हैं चारों लड़के। सुशांत गोल्फ सिटी पुलिस ने लूलू मॉल में बिना अनुमति नमाज पढ़ने वालों को किया गिरफ्तार।।