अदालत ने अरुण गवली को दी पैरोल

नागपुर, ::  बंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ ने जेल में सजा काट रहे गैंगस्टर अरुण गवली को 2008 के हत्या के एक मामले में पैरोल दे दी।


सजा मिलने से पहले गवली ने राजनीति में भी अपना हाथ आजमाया था। वह नागपुर सेंट्रल जेल में बंद है।


उसके वकील राजेंद्र डागा ने पीटीआई-भाषा को बताया कि गवली ने इस आधार पर पैरोल की मांग की थी कि वह अपनी पत्नी की देखभाल करना चाहता है क्योंकि उनका ऑपरेशन होने वाला है।


न्यायमूर्ति सुनील सुक्रे और न्यायमूर्ति माधव जामदार की पीठ ने गवली को ‘योग्यता और नियम’ के अनुसार पैरोल पर रिहा करने का निर्देश दिया।


राज्य पुलिस ने गवली की याचिका का यह करते हुए विरोध किया था कि उसे रिहा किये जाने से कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा हो सकती है। गवली के वकील ने बताया कि अदालत ने हालांकि इस बात को संज्ञान में लिया कि गैंगस्टर को पहले भी छोड़ा गया है और कानून-व्यवस्था से संबंधित कोई परेशानी नहीं हुई।


टिप्पणियां
Popular posts
युवा पार्षद व भामाशाह अनवर कुरैशी ने नवाब कायम खां यूनानी अस्पताल को गोद लेकर शुरू किया कोविड सेंटर के लिए कार्य
इमेज
सिकंदर खान ने पहले देश के लिए बॉर्डर पर अपनी सेवा दी अब लगे हुए हैं कोरोना मरीज़ों को ऑक्सिजन सिलेंडर की मुफ़्त सेवा देने में।
इमेज
शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के ट्वीट से बवाल लोगो मे ट्वीट मे दी गई जानकारी को लेकर नाराजगी।
इमेज
सीकर शहर मे इसी महीने आक्सीजन प्लांट लगकर आक्सीजन हकी आपूर्ति करने लगेगा।
इमेज
जिला कलेक्टर ने अधिकारियों को फतेहपुर, दांता , जाजोद में कोविड सेंटर शुरू करने के दिये निर्देश
इमेज