उपराष्ट्रपति ने नए वायरसों का जल्द पता लगाने के लिए वैश्विक सहयोग का आह्वान किया

हैदराबाद, ::  दुनिया भर में कोरोना वायरस से पैदा भय के बीच सोमवार को उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने नए वायरसों का जल्द पता लगाने और महामारी के किसी प्रकोप को रोकने के लिए वैश्विक सहयोग की आवश्यकता पर बल दियां


नायडू यहां  सीएसआईआर-कोशिकीय एवं आणविक जीव विज्ञान केंद्र (सीसीएमबी) के वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कोरोना वायरस का जिक्र करते हुए कहा कि यह विभिन्न राष्ट्रों में फैल रहा है और स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए एक बड़ी चिंता का विषय है।


एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार उन्होंने कहा कि महामारियां और नए वायरसों से रोगों के प्रति हमारी संवेदनशीलता उजागर होती है।


स्थायी और समावेशी विकास की भारत की आकांक्षा के बीच राष्ट्रीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में भारतीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी नवाचार प्रणाली की महत्वपूर्ण भूमिका का जिक्र करते हुए नायडू ने निजी क्षेत्र से नवाचार वैज्ञानिक परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए एक कोष बनाने की अपील की जो सामाजिक चिंताओं को दूर करेगा।


उन्होंने कहा कि बुनियादी शोध के लिए भी वित्तपोषण बढ़ाया जाना है।


उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि हर वैज्ञानिक प्रयास का परिणाम लोगों के जीवन में सुधार होना चाहिए। उन्होंने संस्थान के वैज्ञानिकों और अन्य प्रयोगशालाओं से आग्रह किया कि वे गरीबी, जलवायु परिवर्तन का प्रभाव, प्रदूषण और पेयजल की कमी जैसी दुनिया के समक्ष विभिन्न चुनौतियों का हल खोजें।


नायडू ने भारतीय चावल अनुसंधान संस्थान के सहयोग से सांबा महसूरी चावल की नयी किस्म विकसित करने के लिए संस्थान की सराहना की और वैज्ञानिकों से कृषि को व्यवहार्य बनाने के लिए अधिक संख्या में रोग और कीट-प्रतिरोधी फसलों को विकसित करने तथा उत्पादकता बढ़ाने के तरीके खोजने को कहा।


उन्होंने सीसीएमबी जैसी संस्थाओं को सलाह दी कि वे बड़े पैमाने पर अभियान चलाकर लोगों के बीच स्वास्थ्य संबंधी जोखिमों के संबंध में जागरूकता पैदा करें।


नायडू ने कहा कि युवा वैज्ञानिकों को चुनौतीपूर्ण शोध कार्य करने और नए विचार पेश करने की अनुमति दी जानी चाहिए।


टिप्पणियां
Popular posts
राजस्थान मे ब्यूरोक्रेसी मे बडा फेरबदल -- सड़सठ भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के तबादले। - जाकीर हुसैन को श्रीगंगानगर जिला कलेक्टर के पद पर लगाया।
इमेज
मेडिकल व इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षा की कोचिंग करने वालो का आनलाइन डाटा तैयार किया जायेगा।
इमेज
इंशाअल्लाह सीकर से सर सैयद अहमद खां वाहिद चोहान जल्द स्वस्थ होकर अस्पताल से हमारे मध्य लोटकर फिर महिला शिक्षा को ऊंचाई देगे।
इमेज
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
शेखावाटी जनपद के मुस्लिम समुदाय मे बहती अलग अलग धाराऐ युवाओं को किधर ले जायेगी!
इमेज