पेट्रोल पम्प संचालक की हत्या के 04 आरोपी नागौर पुलिस ने पकड़े। 2.86 लाख रुपये बरामद


जयपुर 08 सितम्बर। 
                नागौर जिले की थाना रोल पुलिस ने सोमवार को नाकाबंदी के दौरान एक इनोवा गाड़ी से जयपुर मे एक पैट्रोल पम्प संचालक की हत्या कर करीब 500000 रुपये लूट कर भाग रहे चार आरोपितों हनवन्त नगर थाना करधनी निवासी चेतन पुत्र भैरव सिह (18),  लुणसरा थाना कुचेरा नागौर निवासी गौतम सिह पुत्र प्रभु सिह (23), जिला इटावा उत्तर प्रदेश निवासी अभय सिह (24) व शाहजहां पुर जिला अलवर हाल निवारु रोड झोटवाडा निवासी चालक पवन यादव पुत्र जसवंत सिह (23) को हिरासत में लेकर ईनोवा गाड़ी जब्त कर ली है।
           एसपी श्वेता धनकड़ ने बताया कि पुलिस को इनोवा में रखे दो थैलो से 2.47 लाख व गौतम सिह के पास 20 हजार, चेतन के पास 10 हजार व अभय सिंह के पास 9 हजार कुल 2.86 लाख रुपये मिले है। घटना में शामिल अन्य अभियुक्तों के बारे में आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। 
           जयपुर में दिनदहाड़े हत्या व लूट की वारदात की घटना के बाद हत्यारों की गिरफ्तारी के लिये जयपुर व आस-पास के तमाम जिलों में पुलिस द्वारा नाकाबन्दी की गई थी। इसी क्रम में नागौर एसपी श्वेता धनकड के निर्देश पर एएसपी राजेश मीणा व सीओ जायल हजारी राम चौहान के सुपरविजन में थानाधिकारी गणेश मीणा अपनी टीम के साथ थाना रोल के सामने नाकाबंदी कर रहे थे। इसी दौरान एक ईनोवा को रोक चैक किया तो उसमे कुल चार व्यक्ति बैठे थे।
             थानाधिकारी के नाम पता पूछने पर बार-बार अलग-अलग नाम बताने पर थाने ले जाकर गहनता से पूछताछ की तो उन्होंने जयपुर के विश्कर्मा इलाके में पेट्रोल पम्प संचालक निखिल गुप्ता की हत्या करना स्वीकार किया उन्होंने बताया सोमवार सुबह करीब 10-11 बजे के बीच गौतम, अभय, आईदान,  भगवान सिह व चेतन दो बाइक से जयपुर में विश्वकर्मा रोड नं 09 पर गये। वहां निखिल गुप्ता अपनी  कार से AU बैंक मे पैसे जमा करवाने के लिये आया। गाडी से नीचे उतरते ही गौतम ने देसी कट्टे से उसके सीने पर फायर किया जिससे वो नीचे गिर गया। उसी समय आईदान पीड़ित की कार से  पैसों से भरा बैग लेकर आ गया ओर वे वहां से मोटरसाइकिलो से भाग गये। 
           एसपी धनकड़ ने बताया कि घटना स्थल से भाग कर आरोपित गोकुलपुरा की तरफ गये, जहां एक सुनसान जगह पर उन्होंने पैसों का बंटवारा किया। गौतम, अभय सिह व चेतन जयपुर से ईनोवा गाडी किराये कर गौतम सिंह के गांव लुणसरा थाना कुचेरा गये। वहां पर पीपी चौधरी उर्फ धर्मेन्द्र को एक लाख रुपये व एक देसी कट्टा देकर वापिस नागौर से डीडवाना की तरफ जा रहे थे, नाकाबंदी में थाना रोल पुलिस के हत्थे चढ़ गए।


टिप्पणियां
Popular posts
डॉक्टर अब्दुल कलाम प्राथमिक विश्वविद्यालय एकेटीयू लखनऊ द्वारा कराई जा रही ऑफलाइन परीक्षा के विरोध में एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक आदित्य चौधरी ने सौपा ज्ञापन
इमेज
उर्दू तालीम और मदरसा तालीम की हिमायत में सुजानगढ़ मे आमसभा हुई। - गहलोत सरकार को ललकारते हुए उप चुनाव में कांग्रेस को हराने का हुआ प्रस्ताव पास ।
इमेज
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कांग्रेस विधायक एक एक करके दूर होने लगे!
इमेज
राष्ट्रीय लोकदल लखनऊ के जिलाध्यक्ष बने बेलाप्रताप राजवंषी
इमेज
राजस्थान के चार विधानसभा उपचुनाव मे कांग्रेस का गहलोत-पायलट के मध्य का अंदरुनी झगड़ा नुकसान पहुंचायेगा। - मुस्लिम युवाओं की गहलोत सरकार से नाराजगी भी संकट खड़ा करेगी। - भाजपा उम्मीदवारों की घोषणा के बाद भाजपा की मजबूती का ठीक से आंकलन होगा।