साबिक मंत्री यूनुस खांन की पांच लाख रुपयो की मदद से सीकर के कायमखानी छात्रावास के विस्तार भवन निर्माण को गति मिली।


सीकर।
              कुछ महिनो पहले सीकर कायमखानी छात्रावास मे साबिक स्टुडेंट्स के आयोजित एक भव्य समारोह मे शिरकत करते हुये उपस्थित लोगो को सम्बोधित करते हुये राजस्थान सरकार के साबिक वजीर यूनुस खान ने शिक्षा की अहमियत व आवश्यकता पर बोलते हुये कहा था कि कोमी फला व बहबूदी के लिये सामुहिक तौर पर प्रयास किये जाये तो सफलता पाने मे समय नही लगता है। उन्होंने उस समय सीकर कायमखानी छात्रावास की खाली पड़ी जमीन पर आधुनिक सुविधाओं युक्त नये तौर पर भवन बनाकर उनमे स्टूडेंट्स को शिक्षामय वातावरण उपलब्ध कराने पर जौर दिया था।
                   कायमखानी यूथ ब्रिगेड की पहल पर समाज के अधीकांश मोजिज लोगो की मोजूदगी मे 14-जुन कायम खां डे के पावन अवसर के दिन सीकर कायमखानी छात्रावास विस्तार भवन की संगे बुनियाद रखी गई है। जिसमे प्रत्येक कोमी फर्द अपनी तरफ से सहयोग करने का वादा करते हुये सहयोग कर रहा है। इसी कड़ी मे सीकर के कुछ समाजी कारकूनो का एक समूह साबिक वजीर यूनुस खांन से डीडवाना जाकर मिला तो उन्होंने तूरंत पांच लाख राशि की मदद नकद देने के साथ इसके अतिरिक्त पांच लाख का सहयोग आगे चलकर देने का वादा किया है।
            कुल मिलाकर यह है कि सीकर कायमखानी छात्रावास के बन रहे आधुनिक विस्तार भवन के लिये आर्थिक तौर पर मदद करने मे काफी लोग आगे आये व आ रहे है। जिनमे सीकर कायमखानी छात्रावास के पूर्व छात्र व राजस्थान सरकार के साबिक वजीर यूनुस खान द्वारा दख लाख रुपये के सहयोग करने का वादा कर तूरंत पांच लाख की राशि नकद प्रदान करके व बाकी पांच लाख का सहयोग जल्द करने के आवश्वासन के बाद कोमी स्तर पर उनकी उक्त कदम की सहरायना होती नजर आ रही हैः


टिप्पणियां
Popular posts
सरकारी स्तर पर महिला सशक्तिकरण के लिये मिलने वाले "महिला सशक्तिकरण अवार्ड" मे वाहिद चोहान मात्र वाहिद पुरुष। - वाहिद चोहान की शेक्षणिक जागृति के तहत बेटी पढाओ बेटी पढाओ का नारा पूर्ण रुप से क्षेत्र मे सफल माना जा रहा है।
इमेज
राजस्थान मे एआईएमआईएम की दस्तक से राजनीतिक हलचल बढी। कांग्रेस से जुड़े नेताओं मे बेचैनी। - उपचुनाव मे एआईएमआईएम के गठबंधन के उम्मीदवार खड़े करने को लेकर कयास लगने लगे।
इमेज
सांसद असदुद्दीन आवेसी की एआईएमआईएम व पोपुलर फ्रंट के प्रभाव से मुकाबले को लेकर कांग्रेस ने राजस्थान मे अपनी मुस्लिम लीडरशिप व संस्थाओं को आगे किया।
राजस्थान वक्फ बोर्ड का आठ मार्च को कार्यकाल पूरा होने को है, लेकिन सदस्यों के लिये चुनावी प्रक्रिया अभी शुरु नही हुई। - नये चुनाव के लिये सरकारी स्तर पर हलचल पर प्रशासक लगने के चांसेज अधिक बताये जा रहे है।
इमेज
एल पी एस निदेशक नेहा सिंह व हर्षित सिंह सम्मानित किये गये
इमेज