नोएडा में कोविड-19 से एक मरीज की मौत

नोएडा, :: कोरोना वायरस से संक्रमित एक मरीज की नोएडा के सेक्टर 137 स्थित अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है। मरीज मूल रूप से गाजियाबाद के खोड़ा कालोनी का रहने वाला है। नोएडा जिला प्रशासन ने गाजियाबाद जिला प्रशासन को मामले की सूचना दे दी है।


जिला निगरानी अधिकारी सुनील दोहरे ने बताया कि गाजियाबाद के खोड़ा कॉलोनी का रहने वाला एक व्यक्ति कुछ दिन पहले इलाज के लिए नोएडा के सेक्टर-24 स्थित ईएसआई अस्पताल में भर्ती हुआ था।


उन्होंने बताया कि उसकी बिगड़ती हालत को देखते हुए उसे नोएडा के सेक्टर 137 स्थित फ्लिक्स अस्पताल में रेफर किया गया। वहां पर मरीज का कोविड-19 की जांच के लिए नमूना लिया गया। उन्होंने बताया कि कल रविवार को आई रिपोर्ट में मरीज के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुईष इसी बीच मरीज की मौत हो गई।


उन्होंने बताया कि मामले की सूचना गाजियाबाद जिला प्रशासन को दे दी गई है।


निगरानी अधिकारी ने बताया कि मरीज के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों का पता लगाया जा रहा है।


उन्होंने बताया कि मरीज का उपचार करने वाले निजी अस्पताल के डॉक्टर और नर्स, मेडिकल स्टाफ के अन्य लोगों को पृथक-वास में रखा गया है।


यह अस्पताल इससे पहले विवादों में भी रहा है। उक्त अस्पताल के एंबुलेंस के चालक ने कोविड-19 के संदिग्ध मरीज को ग्रेटर नोएडा में सड़क पर फेंक दिया था। यह मामला सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियों में रहा था। इस मामले में अस्पताल के एंबुलेंस चालक एवं अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ है।


Popular posts
सीकर मे पचपन किलोमीटर पैदल यात्रा करके मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया। - निकाली गई मुख्यमंत्री गहलोत की शव यात्रा (जनाजा यात्रा) क्षेत्र मे चर्चा का विषय बनी।
चित्र
बेरीस्टर असदुद्दीन आवेसी को महेश जोशी द्वारा भाजपा ऐजेंट बताने की कायमखानी ने कड़ी निंदा की।
राजस्थान की राजनीति मे कांग्रेस-भाजपा के अतिरिक्त आगामी विधानसभा चुनावों मे तीसरे विकल्प की सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। - कोटा नगर निगम चुनाव मे वेलफेयर पार्टी व एसडीपीआई के उम्मीदवार विजयी होने से हलचल।
जुलाई-19 मे मदरसा पैराटीचर्स के जयपुर मे चले बडे आंदोलन की तरह दांडी यात्रा का परिणाम आया।
चित्र
एआईएमआईएम के राजस्थान आने से पहले कांग्रेस नेताओं मे बोखलाहट। राजस्थान मीडिया मे आवेसी को लेकर बहस व लेख लिखने शुरु।
चित्र